जागरण संवाददाता, कानपुर : राष्ट्रपति की ट्रायल ट्रेन का स्वागत करने के लिए रेलवे अफसर बेसब्री से सेंट्रल स्टेशन पर इंतजार कर रहे थे। प्लेटफार्म नंबर नौ पर ट्रायल ट्रेन आते ही अफसरों ने उसे सुरक्षा घेरे में लेने का रिहर्सल किया। दो मिनट ठहराव के बाद ट्रेन को लखनऊ रवाना कर दिया गया।

सेंट्रल स्टेशन के एक नंबर प्लेटफार्म पर सुबह दस बजे से ही लोगों का प्रवेश रोक दिया गया। यात्रियों को टिकट देखकर और रेलकर्मियों को पहचान पत्र दिखाकर ही अंदर जाने दिया गया। प्लेटफार्म नंबर एक और कैंट साइड में पुलिस, जीआरपी, आरपीएफ और आरपीएसएफ का कड़ा पहरा था। राष्ट्रपति की ट्रायल ट्रेन आने से पहले ही कैंट साइड की सुरक्षा को चाक चौबंद कर दिया गया था। उधर, पुलिस और रेलवे अफसरों का अमला प्लेटफार्म नंबर एक पर बेसब्री से ट्रायल ट्रेन का इंतजार कर रहा था इसी बीच शताब्दी के नौ नंबर पर आने का एनाउंसमेंट हुआ तो अधिकारी नौ नंबर की ओर भागे। यहां ट्रायल ट्रेन 11:26 बजे प्लेटफार्म पर पहुंची तो पुलिस और रेलवे अफसरों ने ट्रेन के स्वागत का रिहर्सल किया। बता दें रोज की तरह दिल्ली से लखनऊ जाने वाली शताब्दी एक्सप्रेस को ही ट्रायल ट्रेन बनाकर चलाया गया था। इस दौरान झींझक पर 10:32 से 10:35 बजे और रूरा में 10:51 से 10:53 बजे तक दो मिनट का ठहराव दिया गया। रेलवे अधिकारियों ने बताया कि टाइमिग और स्पीड को लेकर ट्रायल हुआ था।

स्टेशन और सर्किट हाउस से हुआ फ्लीट का रिहर्सल

जासं, कानपुर : सीएसए विवि सभागार में ब्रीफिग के बाद अधिकारियों ने सेंट्रल स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक से सर्किट हाउस तक और सर्किट हाउस से एयरोड्रम तक फ्लीट का रिहर्सल भी कराया। गाड़ियों का काफिला जब निकला तो अन्य मार्गों से आवागमन कुछ देर के लिए रोक दिया गया था। यही नहीं, रिहर्सल के दौरान डीसीपी ट्रैफिक व डीसीपी पूर्वी ने कुछ अतिरिक्त रास्तों पर बैरियर लगवाने और ऊंची इमारतों की छतों पर फोर्स तैनात करने के लिए भी निर्देश अधीनस्थों को दिए। शाम को सर्किट हाउस में पुलिस आयुक्त असीम अरुण और अपर पुलिस आयुक्त आकाश कुलहरि ने अधिकारियों व कर्मचारियों को निर्देश दिए। उन्होंने आठ-आठ घंटे की शिफ्ट में ड्यूटी लगाने के लिए कहा। साथ ही सर्किट हाउस के मेन गेट के पास और मुख्य भवन के बाहर कमांड रूम भी तैयार करने के आदेश दिए गए। चौबीस घंटे इन कमांड रूम के जरिए ही सुरक्षा व्यवस्था का संचालन होगा। रास्ते पर और सर्किट हाउस भवन में कई स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे भी लगवाए गए हैं।

Edited By: Jagran