जागरण संवाददाता, कानपुर: किसान बिल्कुल परेशान न हों, योगी सरकार हर कदम पर उनके साथ है। उन्हें हर बेहतर सुविधाएं मुहैया कराकर, उनकी आय को दोगुना करने के लिए सरकारी मशीनरी जुटी हुई है। बुधवार को यह बातें सूबे के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहीं। वह शहर में कई प्रबुद्धजनों से मिलने के बाद सर्किट हाउस में पत्रकारों से बात कर रहे थे।

गेहूं खरीद केंद्रों पर भ्रष्टाचार की शिकायतें बहुत तेजी से आ रही हैं, सरकार इन मामलों पर क्या कर रही है? इस प्रश्न के जवाब में उन्होंने बताया कि इस सरकार में भ्रष्टाचार से जुड़ीं जो भी शिकायतें आईं, उनकी जांच कराई गई। कुल 48 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीदा गया। जबकि 2016 में अखिलेश सरकार के दौरान यह आंकड़ा सात लाख मीट्रिक टन था। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से गेहूं खरीद के लिए नौ हजार करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई। आखिर किसान आत्महत्या को क्यों मजबूर हो रहे हैं ? इस पर प्रश्न पर कहा कि जब आंधी-बारिश आई, उससे पहले गेहूं की फसल कट चुकी थी। किसानों को नुकसान हुआ, उनकी भरपाई के लिए संबंधित जिलों में अफसरों को मुस्तैदी से काम करने के निर्देश दिए गए। आर्थिक मदद दी गई। पूर्व सीएम अखिलेश यादव के बंगले में तोड़फोड़ को लेकर सवाल के जवाब में कहा कि पूर्व सीएम ने जनता की गाढ़ी कमाई बंगले के सुंदरीकरण में खर्च कर दी थी। इसे छिपाने के लिए तोड़फोड़ की। इस मौके पर महापौर प्रमिला पांडेय, विधायक नीलिमा कटियार, सुरेंद्र मैथानी, अनीता गुप्ता, सत्येंद्र पांडेय, कमल तिवारी, प्रमोद विश्वकर्मा, दीपक सिंह, अमन शुक्ला, शशांक मिश्रा आदि मौजूद रहे।

---------------

16.5 करोड़ से छह कृषि विज्ञान केंद्रों में बढ़ेंगी सुविधाएं

कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने सर्किट हाउस में ही सीएसए के कुलपति प्रोफेसर सुशील सोलोमन से भी चर्चा की। प्रोफेसर सोलोमन ने बताया कि सरकार की ओर से मिले 16.5 करोड़ रुपये से छह कृषि विज्ञान केंद्रों में सुविधाएं बढ़ाने व उनके रेनोवेशन के निर्देश मिले। जिस पर जल्द काम शुरू करा देंगे। इसके अलावा कैबिनेट मंत्री ने विश्वविद्यालय में बन रहे ब्वॉयज हॉस्टल की भी जानकारी ली।

---------------

प्रबुद्धजनों से मिले कृषि मंत्री

कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने बुधवार को विशेष संपर्क अभियान के तहत आइआइटी के प्रोफेसर विनोद तारे, हरकोर्ट बटलर प्राविधिक विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर एनबी सिंह से मुलाकात कर केंद्र व प्रदेश सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी। वह पनकी स्थित इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन (आइआइए) भवन भी गए। जहां उन्होंने आइआइए के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील वैश्य व अन्य मौजूद उद्यमियों से चर्चा कर उनकी सरकार से अपेक्षाओं के बारे में जानकारी ली।

By Jagran