कानपुर (जेएनएन)। कानपुर में आज धम्म यात्रा का समापन हो गया। समापन के मौके पर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बीएसपी सुपीमो मायावती पर हमला बोलते हुए कहा कि मायावती की सरकार भदन्त डॉ धम्म वीरियो के आशीर्वाद से बनी थी। ताकि दलितों का विकास और सम्मान हो लेकिन भदन्त धम्म दुखी हैं कि मायावती की संपत्ति तो बढ़ी लेकिन गरीब दलितों का विकास नहीं हुआ। 24 अप्रैल को सारनाथ से शुरू हुई धम्म चेतना यात्रा का कानपुर में समापन हुआ। कानपुर में आज धम्म यात्रा का 178 दिन बाद समापन हो रहा गया। अमित शाह ने धम्म यात्रा में शामिल लोगों को धन्यवाद दिया।

यह भी पढ़ें- सपा घमासानः एक दूसरे से नहीं मिले अखिलेश और शिवपाल

अमित शाह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने अम्बेडकर के स्थलों का जीर्णोद्धार किया। दलित वोटों के दम पर उत्तर प्रदेश में कई बार सत्ता का स्वाद चख चुकी मायावती ने दस वर्ष तक उस कांग्रेस का समर्थन किया है, जिसने सबसे ज्यादा डॉ. अम्बेडकर का अपमान किया।इसके इतर भारतीय जनता पार्टी ने हमेशा ही डॉ. अम्बेडकर का सम्मान किया है। उन्होंने कहा कि धम्म विरियो के आशीर्वाद के बाद मायावती मुख्यमंत्री भी बनीं और मायावती की सम्पत्ति बढ़ी। जबकि दलित वहीं का वहीं रहा।अमित शाह ने कहा कि कानपुर में आज सभी धम्म यात्रियों की आवाज इतनी बुलंद होनी चाहिए कि इसकी गूंज दिल्ली में मायावती तक पहुंचे। मायावती ने धम्म यात्रा का विरोध किया था। शाह ने कहा कि भाजपा कभी भी बीजेपी बौद्ध भिक्षुओं को निराशा नहीं होने देगी।

यह भी पढ़ें- अखिलेश, मुलायम ने लखनऊ में किया हाईटेक जेपी म्यूजियम का उद्घाटन

हमको भरोसा है कि उत्तर प्रदेश में कमल खिलेगा और घर-घर में सुख शांति पहुंचेगी। उन्होंने कहा कि मेरा अनुरोध है कि चुनाव तक धम्म यात्रा चलती रहे, तभी परिवर्तन संभव है। बौद्ध भिक्षु यूपी में परिवर्तन करें। अमित शाह ने कहा कि बहुजन समाज पार्टी दलित व गरीबों का भला नही कर सकती। यह तो इनको वोट बैंक समझती हैं। भारतीय जनता पार्टी की सरकार में ही दलित व गरीबों का भला होगा।

अब उत्तर प्रदेश में चारों दिशाओं से निकलेगी भाजपा की परिवर्तन यात्रा

ब्रजेन्द्र स्वरुप पार्क में आयोजित सभा में मुख्य अतिथि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि धम्म विरियो ने बसपा का साथ दिया तो बसपा का विकास हुआ। अब उनका आशीर्वाद भाजपा के साथ है। परिवर्तन की लहर है। भदंत को विश्वास दिलाया भाजपा सत्ता में आएगी तो दलितों का विकास होगा। बसपा की तरह व्यक्ति का नहीं सबका विकास होगा। सपा पर भी ली चुटकी। कहा कि भैया अखिलेश पहले अपने कुनबे को सुधार लो। जो परिवार की कानून व्यवस्था नहीं सुधार सकता वह प्रदेश की कानून व्यवस्था कैसे संभालेगा। मंच से भदंतो ने भी किया भाजपा का साथ देने का आव्हान। सम्राट अशोक से की मोदी की तुलना। मंच पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य, साध्वी निरंजन ज्योति, स्वामी प्रसाद मौर्य, हास्य कलाकार राजू श्रीवास्तव सहित कई नेता भी मौजूद रहे।

तस्वीरें- कई खूबियों से लैस है मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का नया दफ्तर 'लोकभवन

बता दें, कि लगभग 7 महीने चली धम्म यात्रा का समापन भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने किय़ा। इस मौके पर सभी को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि डॉ. अंबेडकर को आजादी के बाद से आज तक कांग्रेस ने अपमानित किया है और मायावती ने कांग्रेस का ही दामन पकड़ा। अमित शाह ने कहा कि बीजेपी ने बाबा साहब का हमेशा सम्मान किया है। गौरतलब है कि बीजेपी ने बाबा साहब भीमराव आंबेडकर की 125वीं जयंती पर पूरे प्रदेश में हर विधान सभा में धम्म यात्रा का आयोजन किया है। यह यात्रा 24 अप्रैल 2016 को सारनाथ से भदन्त डॉ धम्म वीरियो की देख रेख में शुरू की गई थी।

बोरे में 11 करोड़ रुपये लेकर बैंक पहुंचा आगरा का कारोबारी

बृजेंद्र स्वरूप पार्क में लगाए गए विशाल पंडाल में अनुसूचित जाति के कम से कम 25 हजार लोगों को जुटे थे। इसके लिए नौ जिला इकाइयों के पदाधिकारियों को पहले ही जिम्मा दे दिया गया था। धर्मनिरपेक्षता की ललकार, तो किसी की दलितों की मोहब्बत में हूक। उप्र में जाति की राजनीति के ये तीर सामान्य हो चुके हैं। इनकी काट को भाजपा ने अब ‘धर्मास्त्र’ अपने तरकश से निकाला है। धम्म चेतना यात्र के समापन के मंच से बौद्ध अनुयायी भंते धर्म का जो मंत्र देने की तैयारी में है।

तीन तलाक : लॉ कमीशन के सवालनामे का बायकॉट करें मुसलमान : उलेमा

वह भाजपा को बल देंगे तो दलितों पर से बसपा की पकड़ को कमजोर करने की कोशिश करेंगे। सूबे की राजनीति में महती भूमिका निभाने वाले दलित वोट पर भाजपा की पूरी नजर है। इसमें धम्म चेतना यात्र सशक्त माध्यम के रूप में मानी जा रही है।

Posted By: Ashish Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस