जागरण संवाददाता, कानपुर : सड़क पर यातायात नियमों का पालन करें तो हादसों से बचा जा सकता है। पिछले कुछ सालों से चलाए जा रहे जनजागरण अभियानों का असर पड़ा है और इस बार पिछले साल की अपेक्षा सड़क हादसों में हुई मौतों में 19 फीसद की कमी आई है। यह दावा आरटीओ की ओर से गुरुवार को सड़क सुरक्षा सप्ताह के शुभारंभ पर किया गया। अभियान की शुरुआत एमएलसी व भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष सलिल विश्नोई ने दीप जलाकर किया।

आरटीओ में हर वर्ष सड़क सुरक्षा सप्ताह मनाया जाता है। इस वर्ष यह आयोजन 22 से 28 जुलाई तक होगा। सलिल विश्नोई ने कहा कि अधिकतर हादसे वाहन चलाते समय मोबाइल पर बात करने की वजह से हो रहे हैं। कहा कि यह सरकार का नहीं बल्कि जनता का अभियान है। आरटीओ राजेश कुमार सिंह ने बताया कि अभियान का मुख्य उद्देश्य सड़क हादसों में कमी लाना है। यातायात नियमों का पालन कर इसे किया जा सकता है। इस वर्ष पिछले वर्ष की अपेक्षा सड़क हादसों में मौतों की संख्या 19 फीसद घटी है। अभियान संयोजक एआरटीओ प्रवर्तन सुनील दत्त बताया कि हफ्ते भर कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा, जिसमें बस, आटो और रिक्शा यूनियनों को शामिल कर उन्हें भी जागरूक किया जाएगा। सड़क सुरक्षा सप्ताह के पहले दिन सड़क सुरक्षा संबंधी प्रचार वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। कार्यक्रम में मौजूद लोगों ने सड़क सुरक्षा के नियमों का पालन करने की शपथ ली। आरटीओ प्रवर्तन राकेश सिंह, डीसीपी यातायात निखिल पाठक, एआरटीओ प्रशासन सुधीर कुमार वर्मा, आरआइ अजीत सिंह आदि रहे।