कानपुर, जेएनएन। मिडडे मील की जानकारी को लेकर भले ही मध्यान्ह भोजन प्राधिकरण के अफसर सख्ती बरतें, पर जिले की स्थिति बेहद खराब है। जिस डाटा फीडिंग का काम अब तक पूरा हो जाना चाहिए, उसकी हकीकत यह है कि प्रेम नगर, ककवन, भीतरगांव, किदवई नगर व चौबेपुर में डाटा फीडिंग के नाम पर अब तक मानो मजाक किया गया हो। सोचिए, जब समय से डाटा फीड नहीं होगा तो सही आंकड़े कहां से सामने आ पाएंगे। हालांकि, बदहाल स्थिति को देखते हुए अब बीएसए ने भी तल्ख तेवर दिखाए हैं और 30 जुलाई तक डाटा फीडिंग का काम न पूरा करने वाले शिक्षकों का वेतन रोकने का फैसला किया है। कुछ दिनों पहले समय से सूचना न देने वाले 50 से अधिक प्रधानाचार्यों को नोटिसें भी जारी की गई थीं।

विकासखंड 49 दिनों के लिए कुल संख्या फीडिंग हुई फीसद

  • प्रेम नगर 7975 1086 14
  • ककवन 6575 1271 19
  • भीतरगांव 11109 1990 18
  • किदवई नगर 7795 3835 49

विकासखंड 124 व 138 दिनों का लक्ष्य फीडिंग हुई फीसद

  • प्रेम नगर 7975 60 0
  • ककवन 6575 808 12
  • भीतरगांव 11109 1341 12
  • चौबेपुर 11824 99 1
  • बिधनू 16987 989 6
  • किदवई नगर 7795 679 9

इनका ये है कहना

  • शिक्षकों को डाटा फीडिंग करने के लिए अब 30 जुलाई तक अंतिम मौका दिया गया है। अगर, किसी विकासखंड में कोई शिक्षक अपना लक्ष्य नहीं पूरा करता है तो उसका जुलाई माह का वेतन रुक जाएगा। साथ ही उसकी लापरवाही संबंधी रिपोर्ट शासन में भेज दी जाएगी। - डा.पवन तिवारी, बीएसए 

Edited By: Akash Dwivedi