कानपुर, जेएनएन। चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (सीएसए) की शोधार्थी को बड़ी उपलब्धि हासिल हुई है। उन्हें डिपार्टमेंट आफ साइंस एंड टेक्नोलाजी (डीएसटी) से फेलोशिप अवार्ड मिला है। इसके अंतर्गत उन्हें शोध के लिए पांच वर्ष तक 31 हजार रुपये प्रतिमाह, आवासीय भत्ता और अन्य सुविधाएं मिलेंगी। कुलपति डा.डीआर सिंह समेत अन्य अधिकारियों ने उन्हें शुभकामनाएं दीं।

कीट विज्ञान विभाग की शोधार्थी रंजीथा एमआर का चयन देश भर के 200 शोधार्थियों के साथ हुआ है। यह विज्ञान, स्वास्थ्य और कृषि क्षेत्र में तकनीक पर बेहतर कार्य करने के लिए दिया जाता है। रंजीथा मूलरूप से बेंगलुरु की रहने वाली हैंं। उन्होंने वहीं के विश्वविद्यालय के एमएससी में गोल्ड मेडल हासिल किया। पीएचडी के लिए भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद की परीक्षा उत्तीर्ण की। उनका एडमिशन वर्ष 2019 में सीएसए में हुआ।

डॉ राम सिंह उमराव ने बताया कि पूरे देश में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा मेडिकल, विज्ञान एवं कृषि विज्ञान क्षेत्र के परास्नातक गोल्ड मेडलिस्ट छात्रों से आवेदन पत्र आमंत्रित किए जाते हैं। इसके बाद स्क्रीनिंग की जाती है और फिर पूरे देश से 200 छात्रों का फेलोशिप के लिए चयन किया जाता है। विश्वविद्यालय के मीडिया प्रभारी डॉ खलील खान ने बताया कि शोधार्थी भंडारित दलहन में लगने वाले कीटों का परंपरागत एवं नई तकनीक से प्रबंधन विषय पर शोध कर रही हैं। कुलपति डॉ डीआर सिंह ने छात्रा के उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी हैं और कहा है कि विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा छात्रा को फेलोशिप प्राप्त होना विश्वविद्यालय के लिए गौरव की बात है। साथ ही कीट विज्ञान विभाग एवं विश्वविद्यालय के शिक्षकों ने छात्रा के फेलोशिप चयन पर खुशी जताई है।

Edited By: Abhishek Agnihotri