जागरण संवाददाता, कानपुर : नई सड़क व विश्वबैंक बर्रा में पाइपों की टेस्टिंग के लिए भ्रष्टाचार का फव्वारा फूट पड़ा। सड़क से लेकर दुकान व घरों में पानी भर गया। कई जगह सड़क धंसने के कारण रास्ता भी खतरनाक हो गया। लोगों ने वाहन चालकों को बचाने के लिए बैरीकेडिंग के रूप में बांस व ईंट रख दिए।

जेएनएनयूआरएम योजना के तहत जल निगम द्वारा डाली गयी पेयजल लाइनों की टेस्टिंग पिछले चार साल से की जा रही है, लेकिन अभी तक टेस्टिंग पूरी नहीं हो पायी है। अब तक पांच सौ से ज्यादा लीकेज हो चुके हैं और सड़कें भी धंस चुकी हैं। इसी कड़ी में जल निगम ने शनिवार को सुबह नई सड़क में पड़ी पाइप लाइनों की टेस्टिंग शुरू कराई। पानी का प्रेशर पड़ने पर फहीम मार्केट नई सड़क के पास सुबह लाइन फट गयी। लाइन फटते ही तेजी से पानी फव्वारे के रूप में सड़क पर बहना शुरू हो गया। तेजी से निकलते पानी के चलते सड़क, दुकान व घरों में पानी भरने लगा जिसे लोग निकालने लगे। पानी बढ़ता देखकर लोगों ने क्षेत्रीय पार्षदों को जानकारी दी।

क्षेत्रीय पार्षद अभिषेक गुप्ता व मन्नू रहमान मौके पर पहुंच गए। क्षेत्र के अब्दुल रहमान, अकील, सारिक, अफाक ने बताया कि लाइन फटने से तेजी से पानी का जमाव होने लगा। जलकल व जल निगम के अफसरों को जानकारी देकर जलापूर्ति बंद कराई। लाइन फटने के कारण सड़क धंस गई। क्षेत्रीय लोगों ने बताया कि क्षेत्र में पाइप लाइन पड़े कई साल हो चुके हैं, लेकिन आज तक जलापूर्ति नहीं शुरू हुई है। वहीं जलकल विभाग की जर्जर पाइप लाइनों से दूषित पानी आ रहा है। बैराज से हालसी रोड में बनी पानी की टंकी में पानी भेजा जाना है। बताया जा रहा है कि बीच-बीच में गैप भी है।

विश्वबैंक बर्रा में दस जगह धंसी सड़क

विश्वबैंक के डी ब्लाक में शनिवार को पाइपों की टेस्टिंग में छह सौ मीटर सड़क में दस जगह सड़क धंस गई है। क्षेत्रीय पार्षद अर्पित यादव ने बताया कि पहले भी कई जगह टेस्टिंग में सड़क धंस चुकी है इसको ठीक कराने के दौरान जलकल की लाइन भी तोड़ दी है इसके चलते जलापूर्ति भी बंद हो गई है।

क्या कहते हैं जिम्मेदार

लीकेज की जानकारी मिली है। रविवार को टीम लगाकर दोनों जगह लाइन ठीक करायी जाएगी। ठेकेदार का पहले ही भुगतान रोक दिया गया है।

- राम शरण पाल, अधीक्षण अभियंता, जल निगम

Posted By: Jagran