जागरण संवाददाता, कानपुर : छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय में ओल्ड गेस्ट हाउस के बगल में एक करोड़ रुपये की लागत से महिला छात्रावास का निर्माण होगा। कमला नेहरू स्नातकोत्तर महाविद्यालय तेजगांव रायबरेली के प्रबंधक सुरेंद्र बहादुर सिंह ने गुरुवार को उक्त राशि की चेक दान में विश्वविद्यालय को देकर कुलपति की मौजूदगी में एमओयू पर हस्ताक्षर किए।

विश्वविद्यालय में अधिष्ठाता सामाजिक विज्ञान उन्नत अध्ययन संकाय व मीडिया प्रभारी प्रोफेसर संजय स्वर्णकार ने बताया कि छात्रावास का नाम श्रीमती रामकुमारी देवी महिला ट्रांजिट हॉस्टल होगा। इस हॉस्टल में महिला आगंतुकों, विशेषज्ञों, सेमिनार व कांफ्रेंस में भाग लेने वाले प्रतिभागियों और परीक्षकों को अल्प समयावधि के लिए आवश्यकतानुसार उपलब्ध कराया जाएगा। इसके अलावा नवनियुक्त महिला संकाय सदस्यों व विश्वविद्यालय की महिला अधिकारियों को अधिकतम 11 माह के लिए कमरे आवंटित होंगे। जो कमरे दिए जाएंगे, उसका किराया व बिजली का बिल हर महीने करना होगा। उन्होंने बताया कि एमओयू के कुल नौ अलग-अलग बिंदुओं को तैयार कर उस पर हस्ताक्षर कराए गए। इस मौके पर कार्यवाहक वित्त अधिकारी प्रो. आरसी कटियार, कार्यवाहक कुलसचिव आरसी अवस्थी, डॉ.पीके श्रीवास्तव, प्रोफेसर नंदलाल, डॉ.सिधांशु राय आदि मौजूद रहे।

-------------------------

कार्यपरिषद की बैठक में प्रस्ताव किया स्वीकार : 26 जुलाई 2017 को कार्यपरिषद की बैठक में दानदाता सुरेंद्र बहादुर सिंह ने एक करोड़ रुपये दान करने का प्रस्ताव विश्वविद्यालय के प्रशासनिक अफसरों के समक्ष रखा था। जिसे स्वीकार कर लिया गया।

-------------------------

एमओयू की प्रमुख बातें

- महिला ट्रांजिट हॉस्टल का काम शुरु होने से एक साल में पूरा होगा।

- दानदाता समय-समय पर भवन की गुणवत्ता का निरीक्षण कर सकेंगे।

- दानदाता व उनके परिवार के सदस्य आजीवन सीएसजेएमयू में विशिष्ट अतिथि होंगे।

- विश्वविद्यालय के समारोह व कार्यक्रमों में उन्हें बुलाया जाएगा।

- महिला ट्रांजिट हॉस्टल का निर्माण पूरा होने व सीएसजेएमयू को हस्तगत होने पर भवन विश्वविद्यालय की संपत्ति होगी, जिसका पूरा जिम्मा विश्वविद्यालय का ही होगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप