कानपुर, जेएनएन। कोरोना संक्रमण भले ही कम हो गया हो लेकिन इसके बढ़ने की आंशका बनी हुई है। फिलहाल रोडवेज की एसी बसों का संचालन अभी शुरू नहीं किया जाएगा। एसी बसें चारों तरफ से बंद होने से इनसे कोरोना संक्रमण फैल सकता है। इसको देखते हुए कोरोना कर्फ्यू में ही एसी बसों को बंद कर दिया गया था। अभी इनको शुरू नहीं किया गया है। सिर्फ साधारण बसों का संचालन किया जा रहा है। कोरोना काल में यात्रियों की कमी से रोडवेज को हो रहे नुकसान व कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए जनरथ बसों का संचालन बंद कर दिया गया था। हालात बेहतर होने तथा यात्रियों की संख्या बढ़ने पर बसों को दोबारा शुरू किया जाएगा। फिलहाल 65 बसें डिपो में खड़ी हैं। अभी रोडवेज की साधारण बसें ही संचालित हो रही हैं।

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अंतरराज्यीय बस सेवा को बंद कर दिया गया था। इसके यात्रियों की कमी से काफी संख्या में रोडवेज की बसें भी डिपो में खड़ी कर दी गई थीं। कोरोना संक्रमण कम होने तथा कर्फ्यू खुलने के बाद धीरे-धीरे इनका संचालन शुरू किया गया है। यात्री न मिलने से कानपुर परिक्षेत्र में 687 में सिर्फ 325 बसों का संचालन हो रहा था। इनकी संख्या में काफी वृद्धि हुई है। अभी रोडवेज की एसी जनरथ बस सेवा बंद चल रही है। 65 जनरथ बसों को खड़ा कर दिया गया है। रोडवेज अधिकारियों का कहना है कि एसी बसों में कोरोना फैलने की आंशका अधिक रहती है, यात्री भी कम है, जनरथ बसों के संचालन में खर्च भी अधिक होता है। इस कारण फिलहाल जनरथ एसी बस सेवा को बंद किया गया है। मुख्यालय से निर्देश मिलने पर इनका संचालन शुरू किया जाएगा।

Edited By: Shaswat Gupta