कानपुर, जेएनएन। कोरोना के चलते दालों की कीमतें लगातार बढ़ती जा रही हैं। शनिवार को चार दालों के भाव थोक बाजार में ही 100 रुपये से ऊपर हो गए हैं। गंगा मेला के बाद बाजार खुले हुए अभी दो सप्ताह भी नहीं हुए हैं लेकिन इस बीच तीन दालों के भाव 100 रुपये की सीमा को पार कर चुके हैं। हालांकि हरी उड़द के भाव पिछले कई माह से ही 140 रुपये से 150 रुपये किलो के बीच चल रहे हैं।

होली के बाद दालों की स्थिति में काफी तेजी आ रही है। गंगा मेला के बाद बाजार खुला तो एक सप्ताह में सभी प्रमुख दालों की कीमतें बढ़ी थीं। पहले यह वृद्धि सहालग की वजह से थी लेकिन अब इसमें कोरोना को लेकर लोगों के मन में जो भय है, उसकी वजह से भी दालों का भाव बढ़ रहा है। गंगा मेला के बाद जब कारोबार दोबारा शुरू हुआ तो हरी उड़द को छोड़कर कोई दूसरी दाल 100 रुपये किलो से ज्यादा नहीं थी लेकिन अब हरी उड़द के अलावा अरहर, धुली उड़द, डालर चना तीनों ही 100 रुपये के ऊपर हैं।

मध्य प्रदेश के कुछ जिलों में लॉकडाउन का असर दालों की कीमतों को प्रभावित कर रहा है। इसके अलावा कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ने की वजह से आशंकित लोग खरीदारी भी ज्यादा कर रहे हैं। - सचिन त्रिवेदी, दाल के थोक कारोबारी।

दालों के भाव प्रतिकिलो थोक बाजार

दाल- पिछले वर्षअप्रैल- पांच अप्रैल को भाव- 17 अप्रैल को भाव

उड़द हरी 110- 140- 150

अरहर फूल 90-93.5 101

डालर चना 69 91 105

उड़द धुली 86 92 100