कानपुर, जेएनएन। सीवर अौर पेयजल लाइन टूटी होने के कारण ग्वालटोली क्षेत्र में दूषित जलापूर्ति हो रही है। इसके कारण जनता परेशान है। जलसंकट को लेकर क्षेत्रीय लोगों ने पिछले दिनों पार्षद से शिकायत की थी। इसके बाद पार्षद मनोज पांडेय ने जलकल अफसरों को मामले से अवगत कराया। एक हफ्ते बाद जलकल के अफसर हरकत में अाए अौर ग्वालटोली थाने के पास खोदाई करायी तो सीवर लाइन अौर पेयजल लाइन दोनों टूटी मिली। माना जा रहा है कि इसके कारण भी दूषित जलापूर्ति हो रही है।

पार्षद मनोज पांडेय ने बताया कि क्षेत्र में अंग्रेजों के जमाने की सीवर अौर पेयजल लाइन पड़ी है जो अब जर्जर हो गयी है। कई जगह टूट भी चुकी है। बरसात में जलभराव होने अौर लीकेज के कारण सड़कें धसेंगी तो दूषित जलापूर्ति का कारण भी सामने आ जाएगा। कई बार जलकल के अफसरों से शिकायत कर चुके हैं कि जर्जर पाइप लाइनों को बदला जाएगा ताकि क्षेत्र में दूषित जलापूर्ति का संकट खत्म हो सके।

यह केवल ग्वालटोली में ही नहीं है। कर्नलगंज, कुली बाजार, बादशाही नाका, रायपुरवा, चमनगंज, बेकनगंज, गांधीनगर, दर्शनपुरवा, मेस्टन रोड, जनरलगंज, इफ्तिखाराबाद, परेड, नई सड़क समेत कई जगह लीकेज के कारण क्षेत्र में दूषित पानी अा रहा है। जल निगम की नई लाइन पड़े कई साल हो चुके हैं लेकिन अभी तक चालू नहीं हो पायी है। नयी लाइन चालू हो जाए तो शहर में जलसंकट खत्म हो जाएगा।

Edited By: Shaswat Gupta