जासं, कानपुर : श्रमिक कालोनियों से श्रमिकों को बेदखली का नोटिस जारी करने के मामले में गुरुवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने श्रमायुक्त कार्यालय का घेराव किया। सरकार विरोधी नारेबाजी करते हुए कार्यकर्ताओं ने बेदखली का नोटिस वापस लेने की मांग की। चेतावनी दी यदि श्रमिक हटाए गए तो कांग्रेस सड़क पर आंदोलन करेगी।

प्रदेश महिला कांग्रेस के नेतृत्व में गुरुवार को महिला कार्यकर्ताओं ने श्रम विभाग कार्यालय का घेराव किया। उनके साथ श्रमिक कालोनियों के लोग भी शामिल थे। सरकार विरोधी नारेबाजी करते हुए कार्यकर्ता कमिश्नर कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गए। इसके बाद अपर आयुक्त श्रम विभाग डीके सिंह कों ज्ञापन सौंपा।प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष करिश्मा ठाकुर ने कहा श्रमिकों को यह कालोनी कांग्रेस सरकार ने आवंटित की थी जिसका स्वामित्व वर्षों से लंबित है।ऐसे में श्रम विभाग ने यहां रहने वालों को नोटिस जारी कर कालोनी खाली करने के साथ ही 20 लाख रुपये का हर्जाना लगाया है जो न्यायोचित नहीं है। श्रम विभाग ने यह नोटिस वापस नहीं ली तो कांग्रेस कार्यकर्ता कार्यालय का घेराव कर भूख हड़ताल पर बैठेंगे। प्रदर्शन में बंटू बाजपेयी, मंकु ठाकुर, मोनू शुक्ला, राजेंद्र चक, आशा जायसवाल, मधुबाला सिंह, ममता, रूबी, भाव्या ठाकुर उपस्थित रहीं।

...................

यूपी रोडवेज इम्प्लाइज यूनियन 13 दिसंबर को करेगा सम्मेलन

जासं, कानपुर : यूपी रोडवेज इम्प्लाइज यूनियन की ओर से गुरुवार को मंडल स्तर की बैठक की गई। चित्रकूट धाम, झांसी क्षेत्र, कानपुर क्षेत्र, डा राम मनोहर लोहिया कार्यशाला, केंद्रीय कार्यशाला क्षेत्र से प्रतिनिधियों ने शिरकत की। प्रांतीय अध्यक्ष पंडित रामजी त्रिपाठी ने मीटिग की अध्यक्षता करते हुए कहा कि संविदा कर्मचारियों के नियमितीकरण, आउटसोर्सिंग कर्मचारियों, आइटीआइ कर्मियों को स्थायी कराने के लिए पूरे उत्तर प्रदेश में मंडलीय सम्मेलन किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि 13 दिसंबर को झकरकटी बस स्टेशन पर एक ऐतिहासिक सम्मेलन किया जाएगा। उन्होंने सरकार से प्रदेश में चल रही डग्गामारी बसों के अतिक्रमण को खत्म करने की मांग की। इस मौके पर राम किशोर तिवारी, अनिल शुक्ला, पं. शिवम् त्रिपाठी, अशोक सेंगर, गया प्रसाद पाण्डेय मौजूद रहे।

Edited By: Jagran