मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

कानपुर, जेएनएन। भाजपा के पत्ते खोलने से पहले कांग्रेस ने गोविंद नगर उपचुनाव के लिए अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया। कांग्रेस ने यहां से युवा चेहरे करिश्मा ठाकुर पर दांव लगाया है। करिश्मा वर्तमान में एआइसीसी सदस्य और एनएसयूआइ की राष्ट्रीय महासचिव भी हैं। करिश्मा के लिए खास बात यह है कि उन्हे जन्मदिन से ठीक पहले दावेदार घोषित कर कांग्रेस ने तोहफा भी दिया है।
शहर के सेंट मैरी कानवेंट से इंटर की परीक्षा पास करने के बाद करिश्मा ने वर्ष 2103 में दिल्ली यूनिवर्सिटी के लक्ष्मीबाई कालेज में दाखिला लिया। यहीं से उनके राजनीतिक करियर का शुभारंभ हुआ। एनएसयूआइ से जुडऩे के बाद प्रथम वर्ष में ही उन्होंने दिल्ली छात्रसंघ का चुनाव लड़ा और पहली बार में अच्छे वोटों से जीत हासिल कर महासचिव बनीं। वर्तमान में वह एआइसीसी सदस्य और एनएसयूआइ की राष्ट्रीय महासचिव हैं।
करिश्मा बताती हैं कि राजनीति की प्रेरणा पिता राजेश सिंह से मिली है। इसी के आधार पर उन्होंने कई मुकाम हासिल किए और आगे भी जीत के अपने सफर को जारी रखेंगी। शहर कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष हरप्रकाश अग्निहोत्री कहते हैं कि गोविंद नगर उपचुनाव के लिए पार्टी ने उन्हे टिकट दिया है। शहर कांग्रेस कमेटी और कांग्रेस कार्यकर्ता पूरी ताकत से उन्हे चुनाव लड़ाएगा।
मुझसे ज्यादा कोई खुश नहीं
बेटी को टिकट मिलने पर पिता राजेश सिंह कहते हैं कि मुझसे ज्यादा कोई खुश नहीं है। क्राइस्ट चर्च कालेज से वर्ष 1990 में छात्रसंघ अध्यक्ष से उन्होंने अपना सफर शुरू किया था। वर्ष 2012 में कांग्रेस के टिकट पर सरसौल से और वर्ष 2014 में बसपा के टिकट पर कन्नौज लोकसभा से अखिलेश यादव के खिलाफ चुनाव लड़े लेकिन सफल नहीं हुए। इसके बाद उन्होंने राजनीति में बेटी को आगे बढ़ाने में अपनी ताकत लगा दी।

एक नजर में जीवन परिचय

  • जन्म : 15 सितंबर 1994 
  • 2012 में सेंट मैरी कांवेंट से इंटर
  • 2016 लक्ष्मीबाई कालेज दिल्ली यूनिवर्सिटी से बीए ऑनर्स
  • 2019 दिल्ली यूनिवर्सिटी से एलएलबी
  • 2013 में दिल्ली छात्रसंघ की महासचिव
  • 2017 में एनएसयूआइ की राष्ट्रीय महासचिव

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप