कानपुर, जेएनएन। उन्नाव और रूरा में दुष्कर्म की घटनाओं को लेकर कांग्रेस ने प्रदेश सरकार पर तीखा हमला बोला है। रविवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार 'लल्लू' की अगुवाई में कांग्रेस ने बड़ा चौराहे से शहीद स्मारक तक कैंडल मार्च निकाला। प्रदेश अध्यक्ष ने प्रदेश में जंगलराज का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री से इस्तीफे की मांग की।

प्रदेश अध्यक्ष बोले, प्रदेश में खत्म हो चुका है कानून का राज

उन्नाव कांड के बाद रूरा में दुष्कर्म पीडि़ता द्वारा आत्महत्या कर लिए जाने की घटना ने सभी को झकझोर कर रख दिया है। ऐसे में विरोधी दल भी सक्रिय हो गए हैं। रविवार को कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू रूरा पीडि़ता के स्वजन से मिले। वहां से लौटते समय उन्होंने नगर कांग्रेस के बड़ा चौराहा से शहीद पार्क तक आयोजित कैंडल मार्च में भी हिस्सा लिया। कैंडल मार्च बड़ा चौराहा से क्राइस्ट चर्च कॉलेज, रिजर्व बैंक, मेघदूत चैराहा होते हुए नाना राव पार्क स्थित शहीद स्थल पहुंच कर समाप्त हुआ। यहां पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। सभा में प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि बेटियों की रक्षा करने में यह सरकार पूरी तरह फेल साबित हुई है। सिर्फ उन्नाव और कानपुर ही नहीं, प्रदेश का कोई ऐसा जिला नहीं, जहां पर महिलाओं और बेटियों के साथ दरिंदगी व दुष्कर्म की घटनाओं को अंजाम न दिया जा रहा हो। कानून का राज समाप्त हो चुका है। मुख्यमंत्री को इस्तीफा दे देना चाहिए।

बेटी बचाओ का नारा देने वाली सरकार में सबसे ज्यादा घटनाएं

महानगर अध्यक्ष हरप्रकाश अग्निहोत्री ने कहा कि क्रांति की धरा कानपुर से सरकार के खिलाफ निर्णायक जंग का आगाज हो चुका है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव रोहित चौधरी ने कहा कि भाजपा सरकार बेटी बचाओ का नारा देती है, लेकिन बेटियों-महिलाओं पर सबसे ज्यादा दरिंदगी हो रही है। प्रदर्शन में विधायक सोहेल अंसारी, पूर्व विधायक राजाराम पाल, शंकर दत्त मिश्र, पवन गुप्ता, संजीव दरियाबादी, इकबाल अहमद, अशोक धानविक, निजामुद्दीन खां, कृपेश त्रिपाठी, सुबोध वाजपेयी आदि मौजूद रहे।  

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस