जागरण संवाददाता, कानपुर: जीटी रोड व कालपी रोड के बीच में बसा वार्ड रायपुरवा मूलभूत सुविधाओं से जूझ रहा है। ब्रिटिश काल में बने डाटा नाला चोक हैं। नई सीवर लाइन अभी पूरी तरह चालू नहीं हो पाई है। ऐसे में बिना बरसात के ही क्षेत्र में पानी भरा रहता है। निकासी न होने के कारण बारिश में क्षेत्र टापू में बदल जाता है। घरों तक पानी भर जाता है। क्षेत्र में कब्जों के चलते नालियां लापता हो गई हैं।

बारिश की दस्तक के साथ ही क्षेत्र में जलभराव का डर सताने लगा है। कई गलियों में बिना बरसात के ही पानी भरा हुआ है। नाले व सीवर लाइन की सफाई का समय 15 जून गुजर जाने के बाद भी चल रही है। डाट नाले अभी तक साफ नहीं हुए हैं। ऐसे में इस बार भी जलभराव होना तय है।

जागरण द्वारा माथुर वैश्य धर्मशाला रायपुरवा में लगाए गए जागरण आपके द्वार शिविर में जनता ने अफसरों को लिखकर शिकायतें दर्ज कराई। कहा कि बारिश से पहले चोक डाट नाला व सीवर लाइन की सफाई करा दी जाए।

नालियां बंद कैसे निकले पानी

क्षेत्र में नालियां कब्जों के चलते बंद हो गई हैं। ऐसे में निकासी की व्यवस्था बंद हो जाने से जरा सी बारिश में ही पानी भर जाता है।

सड़कों के साथ गलियों में भी अतिक्रमण

सड़कों के साथ ही क्षेत्र की गलियों में भी अतिक्रमण है। फुटपाथ पर लोगों ने कब्जा कर रखा है ऐसे में राहगीरों को सड़क पर निकलना पड़ता है। क्षेत्र की गलियां भी अतिक्रमण से अछूती नहीं हैं। छज्जे आगे तक बढ़े होने से हवा व धूप तक रुक गई है।

क्षेत्र में आवारा जानवरों की धमाचौकड़ी

आवारा जानवरों की धमाचौकड़ी के चलते लोगों का जीना मुश्किल हो गया है। क्षेत्र में सूअर व कुत्तों का आतंक है।

वार्ड में पंपिंग स्टेशन फिर भी पानी को जूझते

वार्ड में ही पंपिंग स्टेशन है, लेकिन फिर भी लोग पीने के पानी के लिए जूझते हैं। आबादी बढ़ती गई, लेकिन पेयजलापूर्ति नहीं बढ़ी। जल निगम ने बैराज से क्षेत्र में नई पाइप लाइन डाल दी है। पंपिंग स्टेशन से जोड़ भी दी है, लेकिन अभी तक चालू नहीं की है। नई लाइन चालू हो जाए तो जलापूर्ति का संकट क्षेत्र में खत्म हो जाएगा।

क्षेत्र का हाल

वार्ड - 32 रायपुरवा

आबादी - 55 हजार

मोहल्ला- गर्ग रोड, रायपुरवा, देवनगर, आचार्य नगर, डिप्टी पड़ाव, भन्नानापुरवा

विशेषता

चन्द्रिका देवी मंदिर व पशु चिकित्सालय रायपुरवा

क्या कहते हैं जिम्मेदार

जागरण आपके द्वार में आई शिकायतों का प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण किया जाएगा। संबंधित विभागों को निस्तारण के लिए शिकायत दे दी गई है।

- नंद किशोर, जोनल प्रभारी जोन एक नगर निगम

सीवर व पेयजल की क्षेत्र में समस्या है। शिविर में लोगों ने अफसरों को शिकायतें दर्ज कराई हैं। इनको निस्तारित कराई जाएंगी।

- रमेश वाजपेयी पार्षद, वार्ड रायपुरवा

जनता की आवाज

क्षेत्र में नालियां बंद पड़ी हैं। इनको साफ कराया जाए ताकि घरों से रोज निकलने वाला पानी सड़क पर न भरे।

- अमर बहादुर

आवारा जानवरों का आतंक बहुत है। अभियान चलाकर पकड़ा जाए और क्षेत्र में बंद हैंडपंप चालू कराए जाए।

- हरीश चन्द्र सोनकर

शौचालय और बनवाए जाएं। खास तौर पर महिलाओं के लिए शौचालयों की व्यवस्था की जाए। क्षेत्र में सफाई भी कराई जाए।

- मालती गौतम

क्षेत्र में बंद पड़े हैंडपंप और सबमर्सिबल पंप चालू कराए जाएं, साथ ही नई पेयजल लाइन को चालू कराया जाए।

- जितेन्द्र कुमार

जरा सी बारिश में इलाका टापू बन जाता है। बारिश के समय रिश्तेदार आने से कतराते हैं। चोक डाट नाला व सीवर लाइन साफ कराई जाए।

- पुनीत राज शर्मा

क्षेत्र में कूड़ाघर नहीं है। सड़कों पर ही गंदगी डाल दी जाती है। देर से कूड़ा उठने के कारण सड़क तक फैल जाता है, इसके कारण लोगों को निकलने में दिक्कत होती है।

- ममता जागरण सुझाव

0 क्षेत्र में सफाई कर्मचारी 30 हैं। इसमें तमाम गायब रहते हैं। जरूरत 80 की है।

0 क्षेत्र में सीवर सफाई के लिए केवल तीन कर्मचारी हैं जबकि जरूरत 20 कर्मचारियों की है।

0 महिलाओं के लिए शौचालय बनाए जाएं। इसके अलावा और यूरिनल बनवाए जाएं।

0 क्षेत्र में गरीबों के लिए बरातशाला व डिस्पेंसरी का निर्माण कराया जाए।

0 क्षेत्र मे डाट नाला हटाकर पाइप लाइन डालें ताकि जलभराव से निजात मिल सके।

0 बैराज से आई नई पेयजल लाइन चालू की जाए तो पीने के पानी का संकट खत्म हो जाएगा।

0 अभी सभी इलाकों में एलईडी नहीं लगी हैं, उन सभी को लगवाया जाए।

0 रामलीला पार्क रायपुरवा का सौन्दर्यीकरण कराया जाए। यह अफसर मौजूद थे

जोनल अफसर नंद किशोर, कर अधीक्षक प्रदीप तिवारी, जलकल अधिशासी अभियंता योगेश श्रीवास्तव, सेनेटरी इंस्पेक्टर विपिन कुमार, जलकल अवर अभियंता ब्रजमोहन, नगर निगम अवर अभियंता विनोद कुमार, कर निरीक्षक ललित कुमार, नोटिस सर्वर गौरी शंकर, जलकल विभाग का कर निरीक्षक नीरज श्रीवास्तव, सफाई नायक जयराज व ज्ञानेंद्र व मार्ग प्रकाश विभाग से अनिल कुमार अवस्थी। यह आई समस्याएं

नगर निगम - 38

जलकल विभाग - 86 फैली सिल्ट उठने लगी

रायपुरवा में सफाई के साथ ही कई दिन से पड़ी सिल्ट को उठाया गया। क्षेत्रीय लोगों ने कहा कि कई दिन से सिल्ट पड़ी थी। सूखने के बाद भी नहीं उठाई जा रही थी, उसको जागरण की टीम आने पर उठाया गया।

Posted By: Jagran