जागरण संवाददाता, कानपुर : प्रदेश के एक मात्र अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम ग्रीनपार्क ने शहर को क्रिकेट में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दी है। मगर अब सिर्फ क्रिकेट ही नहीं बल्कि कानपुर टेबल टेनिस खेल की भी नर्सरी बनता जा रहा है। करीब चार दर्जन बच्चे अकेले ग्रीनपार्क में बने हर्ष तिवारी इंडोर हाल में ही प्रशिक्षण लेने आ रहे हैं।

ग्रीनपार्क के अलावा शहर के कई निजी स्कूल और कालेजों में भी टेबल टेनिस का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। ग्रीनपार्क में प्रशिक्षण पाकर काफी संख्या में खिलाड़ी नेशनल तक खेल चुके हैं। शहर में अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी गीता टंडन कपूर, संजीव पाठक, अभिषेक यादव जैसे खिलाड़ी इन उदीयमान खिलाड़ियों के प्रेरणा स्रोत बने हैं। ग्रीनपार्क में टीटी के कुशल कोच अविनाश कुमार यादव द्वारा प्रशिक्षण दिया जाता है। अविनाश ने दस नेशनल टूर्नामेंट खेलने के अलावा, 4 साल यूनिवर्सिटी टीम के कैप्टन रह चुके हैं। अमेरिकन कोच रिचर्ड से कोचिंग देने का प्रशिक्षण प्राप्त अविनाश ने लेवल वन तक का कोर्स किया है। अपने अनुभवों से रोजाना प्रशिक्षण लेने आने वाले नए खिलाड़ियों को प्रशिक्षित कर रहे हैं। महज 100 रुपये सालाना के शुल्क पर बच्चे टीटी का प्रशिक्षण प्राप्त करते हैं। सीखने आने वाले बच्चों में सबसे छोटी छह वर्ष की कावी शाह, अबाना और तान्या राणा है। यहीं पर प्रशिक्षण ले रही अभिसारिका यादव वर्तमान में यूनिवर्सिटी टीम की कप्तान हैं और अब तक नौ नेशनल खेल चुकी हैं। अभिषेक यादव अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेल रहे हैं, अभी हाल में ही उन्हें बांग्लादेश में खेलने जाना है। वह कई देशों में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं।

'टेबल टेनिस खेलना मुझे अच्छा लगता है, इसे खेलने के लिए किसी मैदान की जरूरत नहीं है।' -कावी शाह, टीटी प्लेयर

'सिर्फ क्रिकेट ही नहीं टेबल टेनिस व अन्य खेल भी हैं, जिनमें अपना नाम रोशन किया जा सकता है।'-अबाना, टीटी प्लेयर

टेबिल टेनस खेलने से हेल्थ अच्छी रहती है और साथ ही एकाग्रता का भी विकास होता है।-तान्या राणा, टीटी प्लेयर

'अपने अनुभव साझा करना अच्छा लगता है, प्रशिक्षण लेने के लिए आने वाले खिलाड़ी भी पूरी लगन रखते हैं।' -अविनाश यादव, कोच

Posted By: Jagran