कानपुर देहात, जेएनएन। क्षेत्र के काशीपुर गांव निवासी मजदूर का एकलौता 10 वर्षीय पुत्र रिंद नदी में बुझरिया (अंकुरित गेहूं) प्रवाहित करने के बाद साथियों के संग नहाने के दौरान पानी में डूब गया। घटना के बाद गोताखोर, पुलिस व दमकल कर्मी कई घंटे तलाश में जुटे पर सफलता नहीं मिल सकी। 

काशीपुर गांव निवासी मजदूर संतोष रैदास का एकलौता 10 वर्षीय पुत्र सागर रविवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे पड़ोस के साथियों संग नदी के पैलाही घाट के पास बुझरिया प्रवाहित करने गया था। बुझरिया प्रवाहित करने के बाद वह साथियों संग नदी में नहाते समय गहराई में चला गया। उसके डूबते ही साथियों ने बचाने का प्रयास किया पर असफल रहे। शोर मचाने पर आसपास आसपास खेतों में काम कर रहे लोग व गांव के तैराक दौड़े। उन लोगों ने नदी में तलाश की पर सफलता नहीं मिली। इसके बाद एसओ धर्मेंद्र मलिक पहुंचे और उन्होंने सिपाहियों देवा मलिक व अन्य को नाव से नदी में उतारा और तलाशी अभियान शुरू कराया गया। वहीं गोताखोर भी बुलाए गए और जाल भी डाला गया। घटनास्थल के आसपास खोजा गया पर कुछ पता  नहीं चला। दमकल कर्मी भी पहुंचे और अपने स्तर से तलाश की पर शाम तक सफलता नहीं मिली थी। इधर संतोष का हाल बुरा था और लोग उसे समझाने में लगे रहे। थाना प्रभारी ने बताया कि साथी बच्चों ने गहराई में डूब जाने की बात कही है। सोमवार को भी गोताखोरों व जाल डलवाकर तलाश कराई जाएगी। 

Edited By: Shaswat Gupta