चित्रकूट, जेएनएन। राजापुर थाना क्षेत्र के छीबों गांव में रविवार को छत्तीसगढ़ प्रांत के रायगढ़ जिला कांग्रेस सचिव ने गोली मारकर आत्महत्या कर ली। घटना के बाद क्षेत्र में सनसनी फैल गई, वह दो दिन पहले ही रायगढ़ से पैतृक गांव आए थे। पुलिस ने घटना की छानबीन शुरू की है और प्राथमिक छानबीन में पारिवारिक कलह की बात सामने आ रही है। हालांकि पुलिस खुदकुशी को छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिला से भी जोड़कर छानबीन कर रही है।

चित्रकूट के राजापुर थानांतर्गत छीबों गांव में रहने वाले शिवनंदन यादव का 30 वर्षीय पुत्र महेंद्र यादव उर्फ जानकीशरण काफी समय से छत्तीसगढ़ प्रांत के रायगढ़ में रह रहे थे। वह काफी समय से कांग्रेस की राजनीति में सक्रिय थे और वह रायगढ़ कांग्रेस जिला सचिव के पद पर थे। दो दिन पहले वह अपने पैतृक गांव परिवार के पास आए थे। रविवार की सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे वह कमरे के अंदर थे, जबकि पिता और मां खेत पर गए थे। उनकी पत्नी रसोई में खाना बना रही थीं। इस बीच कमरे के अंदर महेंद्र ने तमंचे से कनपटी के नीचे खुद को गोली मार ली। गोली चलने की आवाज सुनकर पत्नी भागते हुए कमरे में पहुंची तो पति को खून से लथपथ जमीन पर पड़ा देखकर चीख पुकार मचाने लगी। घर के बाहर ग्रामीणों की भीड़ लग गई और कुछ देर में खेत से पिता व मां भी आ गए। सूचना पर गांव आई पुलिस ने तमंचा कब्जे में लेकर छानबीन शुरू कर दी है।

पुलिस की पूछताछ में पिता शिवनंदन यादव ने बताया कि बेटा महेंद्र यादव छत्तीसगढ़ प्रांत के रायगढ़ जिला में कांग्रेस के जिला सचिव थे। मुख्यमंत्री से भी उनकी बात होती थी और काफी समय से वहीं पर रह रहे थे। वह अक्सर गांव आते-जाते रहते थे। राजापुर थाना प्रभारी अनिल सिंह ने बताया कि आत्महत्या का सही कारण अभी सामने नहीं आया है। फिलहाल परिवारिक कलह की बात सामने आ रही है। प्रकरण में छत्तीसगढ़ के रायगढ़ से भी जानकारी जुटाई जा रही है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021