कानपुर, जेएनएन। सीबीएसई बोर्ड से पढ़ाई करने वाले छात्रों और छात्राओं को पढ़ाने वाले शिक्षकों को परीक्षा 2022 की तैयारी टर्मवार करनी होगी। पूरे वर्ष में अब सीबीएसई की ओर से दो अलग-अलग टर्म में परीक्षाएं होंगी, जिनमें बोर्ड की ओर से पेपर बनाकर स्कूलों को भेजे जाएंगे।

सीबीएसई की ओर से परीक्षा 2022 के लिए जो बदलाव किए गए, उससे संबंधित सभी दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं। बोर्ड की वेबसाइट पर बाकायदा सर्कुलर तक जारी हो गया है। दरअसल अभी तक स्कूलों में यूनिटवार परीक्षाएं कराई जाती थीं। हालांकि, कोरोना महामारी के चलते पिछले दो वर्षों (2020-2021) में जो स्थितियां बदलीं, उसे देखते हुए बोर्ड ने परीक्षा 2022 के लिए टर्मवार व्यवस्था को लागू कर दिया गया।

पाठ्यक्रम भी टर्मवार विभाजित, मूल्यांकन भी होगा अहम : गुरुनानक माडर्न स्कूल के अकादमिक इंचार्ज विवेक अवस्थी ने बताया कि सीबीएसई ने इस सत्र से ही नौवीं से 12वीं तक के पूरे पाठ्यक्रम को भी टर्मवार विभाजित कर दिया है। सभी स्कूलों में शिक्षकों को नए सिरे से पाठ्यक्रम पढ़ाना होगा। इसके अलावा स्कूलों में भले ही छात्रों की जितनी परीक्षाएं हो जाएं, मगर जो मूल्यांकन बोर्ड की ओर से किया जाएगा वह टर्म वन व टर्म टू की परीक्षाओं के आधार पर होगा।

इनका ये है कहना

  • परीक्षा 2022 को देखते हुए सीबीएसई ने टर्मवार पाठ्यक्रम को बांट दिया है। साथ ही अब पूरे वर्ष भर में बोर्ड की ओर से दो टर्म में परीक्षाएं कराई जाएंगी। - बलविंदर सिंह, सिटी कोआर्डिनेटर, सीबीएसई 

Edited By: Akash Dwivedi