कानपुर, जेएनएन। मिडडे मील योजना के तहत स्कूलों में कक्षा एक से आठ तक के बच्चों को भोजन वितरण करने के लिए नामित छह संस्थाओं ने लगातार पांच दिन तक भोजन ही नहीं बांटा। अब इन संस्थाओं को बीएसए ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है। 27 विद्यालयों के संचालकों ने भोजन वितरण न किए जाने की शिकायत की थी। वहीं, कोरोना काल से पहले घटिया भोजन बांटने की आरोपित चार संस्थाओं से बीएसए ने काम छीन लिया है।

संभल की श्रवण क्षेत्र विकास समिति शहर के 20ं, मेरठ की बाला जी संस्थान 70, प्रतापगढ़ की जनहित सेवा शोध संस्थान 60 और द्वारिका प्रसाद समिति कासगंज 60 स्कूलों में भोजन वितरण का कार्य करती थीं। कोरोना की दूसरी लहर से पहले इन संस्थाओं पर घटिया भोजन बांटने के आरोप लगे थे। जांच में आरोप सही मिलने पर इनसे यह कार्य छीन लिया गया है। वहीं मनभावन कल्याण समिति ने नारायणपुर के गुरु नानक इंटर कालेज, माश्रिता सेवा संस्थान ने भाष्करानंद इंटर कालेज नर्वल और राजकीय इंटर कालेज नर्वल, मौलाना आजाद मेमोरियल सोसाइटी ने बिल्हौर के बीआरडी इंटर कालेज, फेयर कमेटी इंटर कालेज मकनपुर, नेहरू इंटर कालेज अरौल, परिषदीय विद्यालय कन्या बिल्हौर-2, ककवन ब्लाक के डीपीएसएन इंटर कालेज, भीतरगांव ब्लाक के भदवारा स्थित महाराणा प्रताप इंटर कालेज, पथिक शिक्षा परिषद इंटर कालेज साढ़, घाटमपुर के गांधी विद्यापीठ इंटर कालेज, मथुरा प्रसाद इंटर कालेज, शिवराजपुर ब्लाक के शारदा इंटर कालेज डोडवा जमौली में भोजन वितरण नहीं किया। इसी तरह निर्बल सेवा संस्थान ने हलीम मुस्लिम इंटर कालेज में भोजन नहीं दिया।

यूनाइटेड विकास समिति ने घनश्याम दास इंटर कालेज किदवई नगर, जीपीजी इंटर कालेज जूही, श्री रत्न शुक्ल नगर निगम इंटर कालेज जूही परमपुरवा, मछरिया के मदरसा अंसार जूनियर हाईस्कूल बालक , भारत सेवक समाज जूनियर हाईस्कूल, चाचा नेहरू बालिका इंटर कालेज दामोदर नगर, हरसहाय जगदंबा सहाय इंटर कालेज पीरोड, बीआर आंबेडकर जूनियर हाईस्कूल गांधी नगर व प्रेम नगर क्षेत्र के प्राथमिक स्कूलों में भोजन नहीं बांटा। छत्तीसगढ़ सामाजिक सेवा संस्थान ने दोसर वैश्य जूनियर हाईस्कूल तथा छावनी बोर्ड के मीरपुर जूनियर हाईस्कूल में भोजन नहीं दिया। बीएसए डा. पवन तिवारी ने बताया कि संस्थाओं पर कार्रवाई होगी। फिलहाल चार संस्थाओं से काम छीन लिया गया है।

Edited By: Abhishek Agnihotri