उरई, जेएनएन। रेढ़र थानांतर्गत गांव में युवक पत्नी की जुदाई बर्दाश्त न कर सका तो उसके सिर पर खून सवार हो गया और अपनी बेटियों समेत पूरे परिवार पर जानलेवा हमला कर दिया। कुल्हाड़ी से काटकर चाचा को मौत के घाट उतार दिया, वहीं जानलेवा हमले में मां, भाई और दो बेटियां गंभीर रूप से जख्मी होकर लहूलुहान होकर गिर पड़ीं। घटना के बाद युवक ने अपने घर में आग लगा दी, तेज लपटें देखकर गांव में अफरा तफरी मच गई और सूचना पर आई पुलिस ने घायलों को अस्पताल भिजवाया। डॉक्टरों ने हालत नाजुक देखकर आरोपित के भाई को झांसी अस्पताल रेफर किया है। पुलिस घटना की छानबीन कर रही है। 

परिवार के साथ रह रहा था वेदप्रकाश

ग्राम रेंढ़र निवासी वेद प्रकाश की शादी करीब पंद्रह साल पहले रीना से हुई थी, जिससे उसे दो बेटियां 15 वर्षीय शालू और 12 वर्षीय नंदिनी हैं। वेद प्रकाश परिवार के साथ गांव के घर मां मूला देवी, चाचा बृजमोहन और भाई संगम के परिवार के साथ रह रहा था। वेद प्रकाश के पिता की काफी समय पहले मौत हो गई थी, इसके बाद से वह ही परिवार का खर्च उठा रहा था। इन दिनों उसकी पत्नी रीना अपने मायके में रह रही है।

कुल्हाड़ी से पूरे परिवार पर कर दिया हमला

ग्रामीणों की मानें तो मंगलवार की रात अचानक वेद प्रकाश के सिर पर खून सवार हो गया। घर में कहासुनी के बाद उसने कुल्हाड़ी उठा ली और पूरे परिवार पर जानलेवा कर दिया। उसने चाचा बृजमोहन पर कुल्हाड़ी से कई वार कर दिए और बचाने आए भाई संगम पर भी हमला करके मरणासन्न कर दिया। उसके रोकने का प्रयास कर रही मां और दोनों बेटियों पर भी हमला कर दिया। सभी लहूलुहान होकर जमीन पर गिर पड़े तो वेद प्रकाश बाहर निकला और घर में आग लगा दी।

घर में लगा दी आग

घर से आग की लपटें उठती देखकर ग्रामीणों में अफरा तफरी मच गई। एक बेटी ने किसी तरह घर के बाहर जाकर शोर मचाया तो पड़ोसी मौके पहुंचे। उससे घटना की जानकारी के बाद सभी सन्न रह गए लेकिन सामने कुल्हाड़ी लिये खड़े वेदप्रकाश को पकड़ने की हिम्मत नहीं जुटा सके। ग्रामीणों ने आग बुझाने के प्रयास के साथ किसी तरह सभी को बाहर निकाला। बृजमोहन की मौत हो चुकी थी और बाकी लोग खून से लथपथ पड़े थे। सूचना पर आई फायर ब्रिगेड ने आग पर काबू पाया और पुलिस ने आनन फानन सभी को अस्पताल भिजवाया, जहां से संगम को गंभीर हालत में झांसी रेफर कर दिया गया।

तीन साल पहले पत्नी चली गई थी मायके

पुलिस ने घरवालों और ग्रामीणों से पूछताछ की तब वजह सामने आई। पुलिस के मुताबिक वेदप्रकाश की पत्नी रीना घरेलू कलह की वजह से तीन साल पहले मायके चली गई थी तब से वापस नहीं आई है। इस बात को लेकर वेद प्रकाश परेशान रहता था और पत्नी को किसी तरह घर लाना चाहता था। रीना को घर लाने के लिए वह कई बार मां, चाचा और भाई से कह चुका था लेकिन उसकी बात पर कोई ध्यान नहीं दे रहा था। पत्नी की जुदाई बर्दाश्त न कर पाने से उसके सिर पर खून सवार हो गया। थाना पुलिस ने आरोपित वेद प्रकाश को हिरासत में लेकर हत्या में प्रयुक्त कुल्हाड़ी बरामद कर ली गई है। पुलिस अधीक्षक डॉ. सतीश कुमार ने बताया कि आरोपित से पूछताछ की जा रही है, घटना में कार्रवाई की जा रही है।

Posted By: Abhishek Agnihotri

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस