कानपुर(जेएनएन)। सचेंडी थाना क्षेत्र में किसान नगर के पास हाईवे पर डीसीएम की टक्कर से बाइक सवार दो चचेरे भाइयों की मौत हो गई, जबकि तीसरा भाई गंभीर रूप से घायल हो गया। तीनो भाई एक बाइक पर सवार होकर बहन के घर से गांव लौट रहे थे। पुलिस ने गंभीर रूप से घायल युवक को अस्पताल में भर्ती कराया है। हादसे की सूचना के बाद परिवार में कोहराम मच गया।

कानपुर देहात के कसूरपुर गांव निवासी किसान रामप्रकाश (60) की बहन भोला देवी की सास का निधन हो गया था। उनकी तेरहवीं संस्कार में शामिल होने के लिए रामप्रकाश चचेरे भाई शिवमोहन (40) और कल्लू (50) के साथ बाइक से सचेंडी स्थित मंगलीपुरवा में गए थे। लौटते समय किसान नगर में हाईवे पर तेज रफ्तार डीसीएम ने बाइक में टक्कर मार दी। हादसे में तीनों भाई गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस ने तीनों को उपचार के लिए कल्याणपुर सीएचसी पहुंचाया।

डॉक्टर ने शिवमोहन को मृत घोषित कर दिया। रामप्रकाश और कल्लू की हालत गंभीर होने पर डॉक्टर ने एलएलआर अस्पताल हैलट रेफर कर दिया। देर रात रामप्रकाश की हालत बिगडऩे पर डॉक्टर ने पीजीआई रेफर किया, जहां सोमवार सुबह उनकी मौत हो गईं। वही हैलट में कल्लू की हालत गंभीर बताई जा रही है। थाना पुलिस ने तहरीर मिलने पर कार्रवाई की बात कही है।

रात भर शव बाहर रखा रहा

शिवमोहन को सचेंडी थाने का होमगार्ड कल्याणपुर सीएचसी से एलएलआर अस्पताल हैलट ले गया। सीएचसी में शिवमोहन को मृत घोषित करने कारण एलएलआर अस्पताल में शव मच्र्युरी में नहीं रखा। इसके बाद होमगार्ड शव को पोस्टमार्टम हाउस ले गया। वहां भी कर्मी ने शव को अंदर नहीं रखा। परिजनों के गिड़गिड़ाने पर कर्मचारी ने शव सील नहीं होने की बात कहकर रखने से मना कर दिया। इसके बाद परिजन रात भर शव को बाहर रखने को मजबूर हुए।

Edited By: Abhishek