कानपुर, जेएनएन। सोमवार की रात दो जगह शादी की खुशियां मनाई गईं लेकिन मामूली सी बात पर मंडप सूने रह गए। यहां दूल्हे की हरकतों से नाराज कन्या पक्ष ने शादी से इंकार कर दिया, जिससे फेरे नहीं पड़े और बरात बैरंग लौट गई। कानपुर देहात में दो सगी बहनें मेहंदी सजाए बैठी रह गईं, वहीं कन्नौज में भी नाराज दुल्हन ने फेरे नहीं लिए।

बैंड बाजा न लाने वापस हुई बरात

कानपुर देहात के मंगलपुर थानांतर्गत मनेपुर गांव में दो सगी बहनों की शादी कांधी गांव के दो चचेरे भाइयों के साथ तय थी। सोमवार की रात दोनों दूल्हे बनकर बरात लेकर मनेपुर गांव पहुंचे। जनवासे में जनातियों ने नाश्ता किया। इसके बाद जब बरात लेकर दरवाजे पहुंचे तो बैंड बाजा न लाने पर कन्या पक्ष नाराज हो गया। इस बात पर कन्या और वर पक्ष में बहस शुरू हो गई। इस बीच सामने आए दोनों दूल्हे भी नशे में लड़खड़ा रहे थे। विरोध करने पर दूल्हों ने विवाद करना शुरू कर दिया, इससे नाराज दुल्हन बनी बहनों के पिता ने शादी कराने से इंकार कर दिया।

इससे रिश्तेदारों में अफरा तफरी मच गई। दो शादी के सजाए मंडप सूने पड़े रह गए। पूरी रात दोनों पक्ष में समझौता का प्रयास चलता रहा लेकिन बात नहीं सकी। मंगलवार की सुबह करीब 10 बजे दोनों चचेरे भाई बरात लेकर बैरंग लौट गए। दुल्हन बनीं बहनों के पिता ने बताया कि दूल्हों ने शराब पी रखी थी, इसलिए विवाह नहीं कराया है। मंगलपुर थाना निरीक्षक तुलसी राम पांडेय ने बताया कि मनेपुर में शादी न होने पर बरात वापस लौटने की जानकारी हुई है, तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

द्वारचार के बाद दूल्हे का हंगामा

कन्नौज के सौरिख नादेमऊ चौकी क्षेत्र के गांव नगला भारा में उदरा गांव से बरात सोमवार की शाम आई थी। कन्या पक्ष ने बरातियों का स्वागत किया और द्वारचार की रस्म पूरी की। इसके बाद खाना खाने के बाद नशे में धुत हुए दूल्हे हंगामा करते हुए कन्या के पिता और मां से अभद्रता कर दी। इससे नाराज दुल्हन ने शादी करने से मना कर दिया। इसकी जानकारी होते ही दोनों पक्षों में अफरा तफरी मच गई। काफी देर तक समझाने के बाद ीाी दुल्हन नहीं मानी। इसकी जानकारी पर बराती भी लौटने लगे और फेरे न पडऩे से मंडप सूना पड़ा रह गया। दोनों पक्षों के बीच पंचायत के बाद दूल्हा और बराती बैरंग लौटने को मजबूर हुए।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek