कानपुर, जेएनएन। कन्नौज के तिर्वां क्षेत्र में एक शादी समारोह में नजारा बिल्कुल फिल्मी हो गया। बरात लेकर आया दूल्हा फेरों के लिए दुल्हन की राह ताक रहा था और दुल्हन बीमारी का बहाना बना अपने 'वेलेंटाइन' (प्रेमी) के साथ भाग निकली। इस बात का पता जब बरातियों और जनातियों को पता चला तो अफरा तफरी का माहौल बन गया। वेलेंटाइन डे पर हुई इस घटना को लेकर तरह तरह की चर्चाएं होना शुरू हो गईं। वर और कन्या पक्ष में काफी देर वार्ता के बाद समझौता हो गया और बरात बिना दुल्हन बैरंग लौट गई। किसी भी पक्ष ने अभी तक पुलिस को सूचना नहीं दी है।
तिर्वा कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में औरैया जनपद के बेला से बरात आई थी। दुल्हन ने बरात दरवाजे पर आने से पहले बीमारी का बहाना बनाया। इससे परिजनों ने उसे मेडिकल कॉलेज में भर्ती करा दिया। इस बीच मौका पाकर दुल्हन अपने प्रेमी का हाथ थाम कर फरार हो गई। जब इस बात की जानकारी परिजनों को हुई तो खोजबीन शुरू हो गई। उधर, दूल्हा बरात लेकर कन्या पक्ष के दरवाजे पहुंच गया। अगवानी के बाद दूल्हा भी दुल्हन के सामने आने की राह देखने लगा। कन्या पक्ष लोग दुल्हन की तलाश करते रहे लेकिन रात उसका पता नहीं चल सका। इस दौरान शादी समारोह में दुल्हन के भाग जाने चर्चा आम हो गई।
इस बात की जानकारी दूल्हे और उसके परिजनों को हुई तो उनके होश उड़ गए। कन्या पक्ष के बड़े बुजुर्ग स्थिति को संभालने में जुट गए। विवाद बढऩे पर दोनों पक्षों में मारपीट की नौबत आ गई। कुछ लोगों ने बीच में पड़कर दोनों पक्षों के बीच पंचायत शुरू कराई। रुपयों का लेनदेन होने के बाद दूल्हा व बरात बिना दुल्हन बैरंग ही लौट गई। किसी भी पक्ष ने मामले की जानकारी पुलिस को नहीं दी। कोतवाली प्रभारी टीपी वर्मा ने बताया कि किसी भी पक्ष की तहरीर नहीं मिली है। दोनों पक्षों के बीच आपसी समझौता हो जाने से कार्रवाई नहीं की जा सकी है।

Posted By: Abhishek