कानपुर, जागरण संवाददाता। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पार्टी के प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह व्यापारियों के बीच 29 नवंबर को केंद्र व प्रदेश सरकार की उपलब्धियों को बताएंगे। यह जानकारी आज भारतीय जनता पार्टी व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक विनीत अग्रवाल सारडा ने दी। प्रदेश के सह संयोजक मुकुंद मिश्रा, क्षेत्रीय सह संयोजक विनोद गुप्ता, कानपुर बुंदेलखंड क्षेत्र के भारतीय जनता पार्टी के मीडिया प्रभारी मोहित पांडेय के साथ संयुक्त पत्रकार वार्ता में उन्होंने बताया कि 16 नवंबर से व्यापार प्रकोष्ठ ने व्यापारी सम्मेलन की शुरुआत की थी। यह शुरुआत सहारनपुर से हुई थी। अब सोमवार को कानपुर के रागेंद्र स्वरूप ऑडिटोरियम में राधा मोहन सिंह व्यापारियों के सम्मेलन को संबोधित करेंगे। इस सम्मेलन में प्रदेश के मंत्रियों में महेश गुप्ता व नंद गोपाल नंदी भी रहेंगे।

उनके मुताबिक समाजवादी पार्टी के कार्यकाल में बड़े उद्योगपति घराने उत्तर प्रदेश में उद्योग लगाना नहीं चाह रहे थे क्योंकि समाजवादी पार्टी की सोच व्यापारियों के उत्पीडऩ की रही है लेकिन आज उत्तर प्रदेश में टाटा, बिरला और अंबानी सभी अपने उद्योग लगा रहे हैं। उनके मुताबिक समाजवादी पार्टी को उत्तर प्रदेश की जनता नकार चुकी है वहीं बहुजन समाज पार्टी खत्म हो गई है। कांग्रेस ने व्यापारियों के बारे में कभी कुछ नहीं सोचा वह सिर्फ अपने परिवारवाद के बारे में सोचती है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार कानपुर के विकास के बारे में सोचती है और विधानसभा चुनाव के बाद कानपुर में और औद्योगिक विकास नजर आएगा। जो लोग भी कानपुर में उद्योग लगाने के लिए आगे आएंगे उन्हें पूरा सहयोग किया जाएगा।

प्रदेश संयोजक ने कहा कि कानपुर में एनटीसी और बीएससी की जो भी मिलें बंद पड़ी हैं उन्हें चलाने के लिए वह केंद्र सरकार को अपना प्रस्ताव भेजेंगे। इसके साथ ही जीएसटी में एक हजार रुपये से कम के रेडीमेड कपड़े, फुटवियर पर टैक्स की दर पांच फीसद से बढ़ाकर बारह फीसद की गई है उसे भी वह वापस 5 फीसद पर लाने के लिए पत्र लिखेंगे। जीएसटी में वार्षिक रिटर्न में चार्टर्ड अकाउंटेंट द्वारा की जाने वाली प्रमाणिकता को खत्म करने के लिए उन्होंने कहा कि व्यापारी बहुत समझदार हैं और वह अपने रिटर्न खुद फाइल कर सकेंगे। यह एक तरह से व्यापारियों का सम्मान भी है। बाद में उन्होंने नवीन मार्केट स्थित भाजपा उत्तर जिला कार्यालय में प्रकोष्ठ की बैठक को भी संबोधित किया और 29 नवंबर की सम्मेलन में ज्यादा से ज्यादा व्यापारियों को लाने का आह्वान किया।

Edited By: Shaswat Gupta