जागरण संवाददाता, कानपुर :

भारतीय जनता पार्टी वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों में अभी से जुट गई है। जिलाध्यक्ष से ऊपर के पदाधिकारी और क्षेत्रों के प्रभारियों को समाज के प्रबुद्ध वर्ग में पैठ बनाने के लिए निर्देश दिए गए हैं। केंद्रीय संगठन की ओर से शुरू हुए विशेष संपर्क अभियान के तहत गुरुवार को कानपुर व बुंदेलखंड क्षेत्र के प्रभारी एवं भाजपा के प्रदेश महामंत्री अशोक कटारिया ने शहर के प्रबुद्धजन के बीच संपर्क किया।

अशोक कटारिया ने सबसे पहले चन्द्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सुशील सोलोमन से मुलाकात कर केंद्र व प्रदेश सरकारों की उपलब्धियों पर चर्चा की। कहा कि सरकार किसानों की आमदनी को दोगुना करने के लिए संकल्पित है। गन्ना किसानों की पीड़ा का अहसास करते हुए 8500 करोड़ रुपये का पैकेज मंजूर किया है। उन्होंने इसके बाद उत्तर प्रदेश रत्‍‌न से सम्मानित समाज शास्त्री डा.वीके सिंह, ज्योतिषाचार्य रमेश चिंतक, सखी केंद्र की नीलम चतुर्वेदी से मुलाकात की। प्रदेश महामंत्री ने केंद्र की उज्ज्वला योजना, स्वच्छ भारत मिशन, प्रदेश में नकल मुक्त बोर्ड परीक्षाओं के बारे में खूबियां गिनाई। इस दौरान उत्तर जिलाध्यक्ष सुरेंद्र मैथानी, दक्षिण जिलाध्यक्ष अनीता गुप्ता, पूर्व विधायक रघुनंदन भदौरिया, शिवराम सिंह, रघुराज सरन गुप्ता, अचल गुप्ता, राकेश तिवारी आदि मौजूद रहे।

---

परिश्रम से निकलती है प्रतिभा

संपर्क अभियान के आखिरी में प्रदेश महामंत्री रोवर्स क्लब मैदान में टीम इंडिया के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव से मिलने के लिए पहुंचे। कुलदीप से उन्होंने कहा कि शहर, प्रदेश और पूरे देश को आपकी प्रतिभा पर गर्व है। आपने साबित कर दिया कि प्रतिभा परिश्रम से निकलती है, जुगाड़ से नहीं। प्रदेश में नकल रोककर सरकार ने ऐसी प्रतिभाओं को निखारने का प्रयास किया है। कुलदीप यादव ने भी कहा कि भाजपा सरकार गरीबों को भी ध्यान में रखकर योजनाएं बना रही, ऐसे ही सरकार को काम करते रहना चाहिए।

-----

ग्राउंड के कायाकल्प की मांग

कुलदीप यादव ने प्रदेश महामंत्री से कहा कि रोवर्स ग्राउंड में मूलभूत सुविधाओं का अभाव है। यहां पर यदि सबमर्सिबल पंप लग जाएं, घास लग जाए और विकेट तैयार हो जाए तो खिलाड़ियों को अभ्यास में काफी मदद मिलेगी। इस पर प्रदेश मंत्री ने कहा कि वह स्वयं कैबिनेट मंत्री सतीश महाना से इसके लिए कहेंगे। यदि तब भी ऐसा नहीं होता तो वह स्वयं ही यह काम करवा देंगे।

----

मोदी ने गरीब को बना दिया वीआइपी

संपर्क अभियान में अशोक कटारिया ने कहा कि पहले गांव में जिसके घर में गैस से खाना बनता था तो उसे वीआइपी कहा जाता था। मोदी सरकार ने उज्ज्वला योजना लाकर हर गरीब को वीआइपी की श्रेणी में लाकर खड़ा किया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस