कन्नौज, जेएनएन। कपूरपुर गांव में शनिवार की सुबह उस समय कोहराम मच गया, जब दो युवकों के शव घरों में पहुंचे। शादी के छह माह बाद दीपावली पर आने का वादा करके गए युवक की जगह शव आया देखकर पत्नी बेसुध हो गई। अहमदाबाद से लौटे दो युवकों की शुक्रवार की देर रात आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर हादसे में मौत होने के बाद गांव में मातम छा गया। त्योहार की खुशियों में दो परिवारों में दुख का पहाड़ टूटा देखकर गांव वालों की भी आंखें नम हो गईं।

तालग्राम के गांव कपूरपुर निवासी 28 वर्षीय सुरजीत और 30 वर्षीय सचिन अहमदाबाद में नौकरी करते थे। सुरजीत की छह माह पहले शादी हुई और इसके बाद वह पत्नी से दीपावली पर घर आने की बात कहकर अहमदाबाद चला गया था। दीपावली पर सुरजीत के साथ सचिन भी घर लौट रहा था। रात अधिक हो जाने के कारण सचिन ने घर पर मोबाइल फोन से इटावा उतरने की जानकारी देते हुए चचेरे भाई रवि से लेने आने को कहा था। इसपर रात में रवि और करन अलग अलग बाइक से दोनों को लेने पहुंच गए थे। सचिन और सुरजीत एक बाइक पर सवार हो गए, जबकि दूसरी बाइक पर रवि के साथ करन बैठ गया। अलग अलग बाइकों पर सवार होकर चारों आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे से तालग्राम आ रहे थे।

इस बीच सलेमपुर गांव के सामने आगे चले रहे ट्रक में पीछे से सचिन की बाइक टकरा गई। हादसे में सुरजीत की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं सचिन गंभीर रूप से घायल हो गए। पीछे ही बाइक सवार भाई ने हादसे के बाद परिजनों और पुलिस को जानकारी दी। यूपीडा के कर्मियों ने घायल युवक को मेडिकल कॉलेज तिर्वां भिजवाया, जहां पर उपचार के दौरान सचिन ने भी दम तोड़ दिया। परिजन और ग्रामीण अस्पताल पहुंच गए, सुबह जब गांव में दोनों की मौत की सूचना पहुंची तो मातम छा गया। वहीं सुरजीत और सचिन के घर में कोहराम मच गया। सुरजीत की मौत पर उसकी पत्नी बदहवास हो गई।

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस