कानपुर, जेएनएन। चकेरी क्षेत्र में बीते दिवस टेंट कर्मी देवर ने पबजी खेलते हुए खुदकशी कर ली तो उसकी भाभी बर्दाश्त नहीं कर पाई और फांसी लगाकर जान दे दी। इस घटना को लेकर लोगों में चर्चाएं शुरू हो गईं, कहा जा रहा है कि देवर-भाभी के बीच तीन साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। वहीं परिजनों में कोहराम मचा है और पुलिस ने घटना की छानबीन शुरू की है।

चकेरी के गिरिजानगर निवासी 28 वर्षीय सुरेंद्र कुमार कर्मचारीनगर के टेंट हाउस में नौकरी करता था। वह अपने परिवार से अलग रहता था। रविवार को वह दोस्त के साथपबजी गेम खेल रहा था, इस बीच उसने कमरे में जाकर फांसी लगा ली थी। इस बात की जानकारी उसकी भाभी आरती को हुई तो वह सदमा बर्दाश्त नहीं कर सकी। आरती ने सोमवार को कमरे के अंदर साड़ी का फंदा बनाकर पंखे के सहारे फांसी लगा ली। काफी देर बाद जब सास कमरे में पहुंचीं तो घटना का पता लगा। थाना प्रभारी रामकुमार गुप्ता ने बताया कि सुरेंद्र छह भाइयों में पांचवें नंबर पर था। स्वजन ने बताया कि आरती ने सुरेंद्र की मौत के गम में जान दी है।

देवर-भाभी के बीच था प्रेम

स्वजन ने बताया कि भाभी और देवर में प्रेम था। सुरेंद्र घर से अलग रहता था और आरती उसके लिए अक्सर खाना बनाकर ले जाती थी। वहीं दूसरी ओर इलाके में तमाम तरह की चर्चाएं शुरू हो गई हैं। लोगों का कहना है कि देवर व भाभी के बीच तीन साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। आरती अक्सर सुरेंद्र से मिलने जाती थी और काफी देर रुक जाती थी। सुरेंद्र भी भाभी से प्यार करता था और उसने अभी तक शादी भी नहीं की थी।

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस