कानपुर, जागरण संवाददाता। त्योहार आते ही लोग खरीदारी करनी शुरू कर देते हैं। इस बीच, अगर आप आनलाइन खरीदारी कर रहे हैं तो जरा सावधान रहें। त्योहारी मौसम में साइबर अपराधी सक्रिय हो जाते हैं और विज्ञापन, लाटरी जीतने, कैशबैक आदि का झांसा देकर लोगों को ठगी का शिकार बनाते हैं। ऐसी घटनाओं की रोकथाम के लिए पुलिस इंटरनेट मीडिया के जरिये लोगों को जागरूक कर रही है।

इन बातों का रखें ख्याल

- मोबाइल पर कोई भी एप या इंटरनेट मीडिया को एक्टीवेट करते हैं तो अकाउंट को दोहरी सुरक्षा प्रदान करें।

- इंटरनेट मीडिया अकाउंट और बैंक अकाउंट का ऐसा पासवर्ड बनाना चाहिए जिसे साइबर अपराधी तोड़ न कर सकें। आमतौर पर लोग गाड़ी नंबर और जन्मतिथि, मोबाइल नंबर आदि को पासवर्ड बना लेते हैं जो सुरक्षित नहीं होते। इसके लिए विशेष शब्दों का प्रयोग करके उसे सुरक्षित करना चाहिए।

- साइबर ठगी का शिकार होने पर तुरंत ही नजदीक के थाने या हेल्पलाइन नंबर 1930 डायल कर शिकायत दर्ज कराएं।

- बैंक खाते, एटीएम, डेबिड और क्रेडिट कार्ड संबंधी जानकारी, वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) किसी से साझा न करें।

- लुभावने आफर, लकी ड्रा, बिजली के बिल और इंश्योरेंस के प्रीमियम में छूट, लोन एप आदि के माध्यम से होने वाली ठगी के प्रति सतर्क रहें।

- समय समय पर अपने मोबाइल, लैपटाप, कंप्यूटर सिस्टम आदि को अपडेट करते रहें और एंटीवायरस साफ्टवेयर व एप का इस्तेमाल जरूर करें।

साइबर ठगी संबंधी घटनाओं की रोकथाम के लिए लोगों को जागरूक करने का काम इंटरनेट मीडिया के माध्यम से किया जा रहा है।- हरमीत सिंह, थाना प्रभारी ,साइबर थाना 

Edited By: Nitesh Mishra