कानपुर, जेएनएन। यदि कोरोना वायरस की दहशत कम हुई तो चार अप्रैल को बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों के चुनाव के लिए मतदान होगा। ये बातें पर्यवेक्षक मधुसूदन त्रिपाठी ने बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों और प्रत्याशियों के साथ गुरुवार को हुई बैठक में कहीं। उन्होंने बार और लॉयर्स एसोसिएशन के साथ ही दीवानी न्यायालय परिसर का मुआयना भी किया।

यूपी बार काउंसिल के पर्यवेक्षक ने की बैठक

बार एसोसिएशन चुनाव कराने के लिए यूपी बार काउंसिल द्वारा नियुक्त पर्यवेक्षक मधुसूदन त्रिपाठी गुरुवार को कचहरी पहुंचे। यूपी बार काउंसिल के सह अध्यक्ष अंकज मिश्रा भी उनके साथ थे। बैठक कक्ष में सबसे पहले पदाधिकारियों के साथ बैठक की गई। पर्यवेक्षक ने साफ कहा कि वर्तमान समय में कोरोना की दहशत को देखते हुए मतदान के लिए कोई भी तारीख घोषित नहीं की जा सकती है। सब कुछ ठीक रहा तो 4 अप्रैल को मतदान कराया जाएगा। इससे पहले 25 मार्च को संशोधित मतदाता सूची चस्पा की जाएगी। इसके बाद प्रत्याशियों के साथ भी उन्होंने बैठक की। प्रत्याशियों को चुनाव आचार संहिता का कठोरता से पालन करने के निर्देश दिए। सुझाव दिया गया कि कचहरी परिसर में चुनाव कराया जाए।

बार व लायर्स एसोसिएशन का किया निरीक्षण

इसके बाद पर्यवेक्षक ने बार और लॉयर्स एसोसिएशन का निरीक्षण किया। बार एसोसिएशन के महामंत्री कपिल दीप सचान और कोषाध्यक्ष अश्वनी आनंद ने बताया कि पर्यवेक्षक को बार एसोसिएशन हाल और दीवानी न्यायालय परिसर का भूतल चुनाव संपन्न कराने के लिए सही लगा, हालांकि अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है। बैठक में बार एसोसिएशन के अध्यक्ष श्यामजी श्रीवास्तव, लॉयर्स अध्यक्ष दिनेश शुक्ला, उपेंद्र पाल सिंह भदौरिया समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे। गौरतलब है कि पहले दो मार्च को बार एसोसिएशन के चुनाव होने थे, लेकिन मतदाता सूची को लेकर जताई गई आपत्ति के कारण ऐन मौके पर एक दिन पहले चुनाव रद कर दिए गए थे। 

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस