कानपुर, [विक्सन सिक्रोड़िया]। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) कानपुर से केमिकल इंजीनियरिंग से पीएचडी कर चुके डॉ. तुषार देशपांडेय ने एक ऐसी फिल्म का अाविष्कार किया है, जिसका कई तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है। इस फिल्म का बैंडज या पट्टी में प्रयोग करने से घाव में संक्रमण का खतरा नहीं रहेगा और यह न केवल घाव को वायरस व बैक्टीरिया से बचाएगी बल्कि उसके पकने का जोखिम भी नहीं रहेगा। यह ऐसी फिल्म है जो पेट्राले-पानी मिश्रण को अलग कर सकती है तो वहीं शरीर के अंगों के टिशू बनाने में भी काम आ सकती है।

थिन फिल्म से हवा तो गुजरती पर वायरस नहीं

आइआइटी कानपुर से पीएचडी कर चुके डॉ. तुषार देशपांडेय ने 'माइक्रोपोरस इलास्टोमरिक थिन फिल्म' बनाई है, जिससे बनी बैंडेज पर पानी, ड्रॉपलेट या कोई भी तरल पदार्थ नहीं टिकेगा। अतिसूक्ष्म छिद्र वेंटीलेशन के साथ घाव पर दवा भरने के काम भी आएंगे। पॉलीडाई मिथाइल सिलोक्सिन, इथाइल एसिटेड व पानी को मिलाकर बनाई गई 150 माइक्रॉन की थिन फिल्म में दो माइक्रॉन के छिद्र किए जा सकते हैं। इन छिद्रों से हवा तो गुजरती है लेकिन वायरस नहीं क्योंकि यह अपने ऊपर तरल पदार्थ नहीं ठहरने देती है।

थिन फिल्म का पेटेंट कराया

अभी तक पीबीसी, पॉलीएथिलीन, पॉलीयूरेथेन व लेरिक्स फिल्म से बैंडेज बनाए जाते हैं, जिसमें इतने छोटे छिद्र नहीं किए जा सकते हैं। ऐसे में हवा पास नहीं होती है। केबीसी नॉर्थ महाराष्ट्र यूनिवर्सिटी जलगांव में असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. तुषार देशपांडेय ने बताया कि आइआइटी प्रोफेसर व विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग में सचिव प्रो. आशुतोष शर्मा, प्रोजेक्ट एसोसिएट योगेश सिंह, डॉ. वाईएम जोशी व डॉ. संदीप पाटिल के सहयोग से बनाई गई थिन फिल्म का पेटेंट करा लिया है। इसकी लागत अभी प्रचलित फिल्म के बराबर ही आएगी।

पीपीई किट व अंगों के टिश्यू बनाने में भी होगा इस्तेमाल

डॉ. देशपांडेय ने बताया कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट (पीपीई) किट बनाने में भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। हृदय, लिवर व ब्रेन समेत अन्य अंगों के टिश्यू बनाने में भी फिल्म कारगर होगी।

पानी व पेट्रोल के मिश्रण को कर सकते हैं अलग

इस फिल्म में पानी का ठहराव नहीं होता है इसलिए दो से पांच माइक्रोन के छिद्र से पानी से पेट्रोल को अलग किया जा सकता है। इससे पेट्रोल की शुद्धता जांचने के लिए बड़ा फिल्टर भी बनाया जा सकता है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस