औरैया, जागरण संवाददाता। वाहन चेकिंग के दौरान सीज किए जाने वाले वाहनों में एक वाहन को छुड़ाने के लिए युवक से कुछ समझ लेने की बात एक सिपाही ने मोबाइल फोन पर बातचीत के दौरान कही। 

रुपयों के लेनदेन तक मामला पहुंच गया। आडियो इंटरनेट मीडिया पर आने से महकमे में खलबली मच गई। पूरे मामले की जांच सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी ने शुरू की है। उन्होंने इस बात की पुष्टि भी की है।  

मोबाइल फोन पर वाहन स्वामी व सिपाही के बीच हुई बातचीत का रिकार्डिंग आडियो की क्लिप इंटरनेट मीडिया पर आने के बाद अधिकारियों ने उसे सुना। बातचीत तकरीबन 10 दिन पहले की बताई जा रही है। इसमें कानपुर-इटावा हाईवे पर करमपुर गांव समीप दो वाहनों को चेकिंग के दौरान पकड़ा गया था। दस्तावेज न होने पर कार्रवाई की गई। जिसे छुड़ाने के लिए तोड़ निकालने में दोनों वाहन के स्वामी लग गए। इसमें एक ने विभाग में तैनात सिपाही से मोबाइल फोन पर बात की। उनके बीच रुपये के लेनदेन की बातें होने लगी। जिसमें यात्री कर अधिकारी रेहाना बानो के 

सख्त तेवर का हवाला देकर सिपाही अपनी बात करता रहा। यह भूल गया कि यह उसके लिए महंगा पड़ सकता है। ऐसा हुआ भी। आडियो की क्लिप इंटरनेट मीडिया पर आ गई। लिखित तौर पर  शिकायत भी कर दी गई। सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी (प्रशासन) अशोक कुमार ने बताया कि वह स्वयं जांच कर रहे हैं। बातें सिद्ध होने पर कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Abhishek Verma