कानपुर, जेएनएन। बिकरू में दो जुलाई की रात जो हुआ, उसमें महिलाओं की भी भूमिका थी। मंगलवार को सोशल मीडिया पर दो ऑडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने अमर दुबे की पत्नी खुशी को जेल से छुड़ाने के फैसले को टाल दिया है। अब दोबारा से महिलाओं की संलिप्तता की जांच होगी। इसके बाद ही कोई फैसला लिया जाएगा।

घटना से संबंधित दो वीडियो हुए वायरल

  मंगलवार की सुबह जो पहला ऑडियो वायरल हुआ उसमें मंगलवार को गिरफ्तार किए गए शशिकांत पांडेय की पत्नी मनु, विकास के भाई दीप प्रकाश तथा उसकी पत्नी अंजली के बीच बातचीत होती सुनाई दे रही है। शाम को एक और ऑडियो वायरल हुआ, जिसमें एक महिला हमलावरों को ये बता रही है कि पुलिसकर्मी कहां छिपा है। एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया कि नए तथ्य आने के बाद पता चला है कि गांव की महिलाओं ने हमलावरों का भरपूर साथ दिया है। ऐसे में खुशी को लेकर अदालत में दायर होने वाली धारा 169 की अर्जी प्रक्रिया फिलहाल टाल दी गई है। अब महिलाओं की संलिप्तता की जांच होगी, इसके बाद ही कोई निर्णय लिया जाएगा। महिलाओं पर कार्रवाई की बात पर उन्होंने कहा कि पुलिस को सूचना न देना और घटना को छिपाने की कोशिश करना अपराध के दायरे में आता है, जिन महिलाओं के नाम सामने आ रहे हैं, उनके मामलों में विधिक राय लेकर कार्रवाई की जाएगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस