कानपुर (जेएनएन)। अंबाला से अपने मित्र की शादी में आए सैनिक की हर्ष फायरिंग के दौरान गोली लगने से मौत हो गई। देश की शीर्ष अदालत के हर्ष फायरिंग पर प्रतिबंध लगाने के बाद भी देश भर में किसी न किसी आयोजन में हर्ष फायरिंग हो रही है।

कानपुर के चकेरी में हर्ष फायरिंग में कल एक युवा फौजी की मौत हो गई। अपने दोस्त की शादी में शरीक होने आए अंबाला में तैनात सेना के जवान कुलदीप दीक्षित (28 वर्ष) की हर्ष फायरिंग में गोली लगने से मौत हो गई। गोली उन्हीं की लाइसेंसी राइफल से चली।

पुलिस ने राइफल चला रहे फौजी के गांव निवासी दोस्त संजय मौर्य को उस राइफल समेत गिरफ्तार कर लिया है। रायबरेली के गांव पूरे मंगली, थाना सरैनी निवासी कुलदीप गांव के ही अपने दोस्त शिवप्रकाश की शादी में शामिल होने श्यामनगर के पीतांबरा गेस्ट हाउस आए थे।

उनकी लाइसेंसी राइफल इसी गांव का उनका दोस्त संजय मौर्य चला रहा था। इसी दौरान एक गोली कुलदीप दीक्षित के पेट में लगी और कमर की हड्डी तोड़ते हुए निकल गई। लोग कुलदीप दीक्षित को कांशीराम ट्रामा सेंटर लेकर गए जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

उनकी शादी नवंबर 2017 में ही हुई थी। घटना की सूचना पर एसएसपी अखिलेश कुमार और एसपी पूर्वी अनुराग आर्य भी पहुंचे। देर रात कुलदीप दीक्षित के परिवार के लोग भी अस्पताल पहुंचे जहां उनकी बहन बेहोश हो गई। उन्हें बड़ी मुश्किल से होश में लाया गया।

Posted By: Dharmendra Pandey