संवाद सहयोगी, महाराजपुर : नर्वल के सवायजपुर में एक सप्ताह पहले फसल चरने से नाराज किसान ने गोवंश को डंडे से बुरी तरह पीटकर मरणासन्न कर दिया था। निर्दयता पूर्वक गोवंश की पिटाई का वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल होने के बाद आरोपित के खिलाफ पशुक्रूरता अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपित फरार है। एसडीएम नर्वल और सीओ सदर ने गोशाला पहुंच कर मामले की जांच की।

नर्वल के सवायजपुर स्थित अस्थायी गोसंरक्षण केन्द्र से बाहर निकलकर एक बेसहारा जानवर बीती 16 जनवरी को बगल में स्थित गांव के ही श्यामू कुशवाहा की खड़ी फसल चरने लगा था। श्यामू कुशवाहा ने खेत से खदेड़ा तो छह माह का गोवंश गोशाला में आ गया। आरोपित श्यामू ने गोशाला में घुसकर गोवंश पर बेरहमी से डंडे बरसाए। पिटाई से बेदम हुए गोवंश को मरणासन्न हालत में छोड़कर आरोपित चला गया। गोशाला की देखरेख में लगे उपेन्द्र यादव ने घटना का वीडियो बना लिया था। शुक्रवार दोपहर इंटरनेट मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद एसडीएम नर्वल अमित कुमार, सीओ सदर ऋषिकेश सिंह व बीडीओ सरसौल प्रवीना शुक्ला ने गोशाला पहुंच कर जांच की, जिसके बाद ग्राम पंचायत सचिव रवीन्द्र सिंह की तहरीर पर आरोपित श्यामू के खिलाफ पशुक्रूरता अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। फरार आरोपित की पुलिस तलाश कर रही है। एसडीएम नर्वल अमित कुमार ने बताया कि वीडियो बीती 16 जनवरी का है। आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। घायल गोवंश का उपचार कराया जा रहा है। -----------

ग्रामीणों ने पुलिस पर लगाया आरोपित को छोड़ने का आरोप

ग्रामीणों ने बताया कि बीती 16 जनवरी को दोपहर तीन बजे हुई इस घटना के बाद पुलिस को सूचना दी गई थी। सिपाही आरोपित श्यामू को पकड़कर थाने भी ले गए थे। लेकिन पुलिस की जेब गर्म होने के बाद आरोपित को छोड़ दिया गया। पुलिस ने आरोपित को यह कहकर छोड़ा था कि कुछ दिनों तक गांव में दिखाई न पड़ना। कुछ ग्रामीणों का कहना है कि पिटाई से गोवंश की मौत हो चुकी है, लेकिन अधिकारी अपने को बचाने के लिए मौत की बात छिपा रहे हैं।

Edited By: Jagran