कानपुर, जागरण संवाददाता। रेलबाजार में मामा के जेल जाने से नाराज भांजे ने अपने दोस्त को खेलने के बहाने बुलाकर सेनेटाइजर डालकर जला दिया। घटना की जानकारी होने पर स्वजन ने किशोर को केपीएम अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से उसे उर्सला रेफर कर दिया गया। साथ ही घटना की शिकायत पुलिस से की।

रेलबाजार के हैरिसगंज निवासी फिरोज आलम इलेक्ट्रिशियन हैं। उन्होंने बताया कि कुछ समय पहले पड़ोस में रहने वाली उनकी बुआ के घर चोरी हुई थी। मामले की शिकायत के बाद पुलिस ने इलाके के फार्रूख को जेल भेजा था। इस बात से आरोपित का परिवार रंजिश मानने लगा और धमकी भी दी। मंगलवार को आरोपित फार्रूख का नाबालिग भांजा उनके 11 वर्षीय बेटे रेहान को खेलने के बहाने ले गया। आरोप है कि हैरिसगंज में रेलवे कालोनी के पास खेलते-खेलते आरोपित के भांजे ने बेटे पर सेनेटाइजर डालकर आग लगा दी और मौके से भाग गया। इस दौरान बेटे के साथ मौजूद अन्य दो बच्चों ने घटना की जानकारी दी। आनन-फानन बेटे को केपीएम अस्पताल में भर्ती कराया। जहां हालत नाजुक होने पर डाक्टर ने उसे उर्सला रेफर कर दिया। थाना प्रभारी संजय कुमार पांडेय ने बताया कि बच्चों ने खेल के दौरान आग लगाई थी, जिसकी चपेट में आकर एक बच्चा जल गया। फिलहाल पीड़ित परिवार की तहरीर पर रिपोर्ट दर्जकर मामले की जांच की जा रही है।

Edited By: Abhishek Verma