कानपुर देहात, जेएनएन। समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने दोहराया कि बड़े दल से गठबंधन का अनुभव सही नहीं रहा। अब उनका साथ नहीं लेंगे, भाजपा को हटाना चाह रहे छोटे दलों का स्वागत करेंगे। चाचा शिवपाल सिंह से गठबंधन के सवाल पर खुलकर नहीं बोले लेकिन इतना जरूर कहा कि उनका सम्मान रखने का काम समाजवादी लोग करेंगे। वह सर्किट हाउस में पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे।

बिजली महंगी करने की तैयारी, केंद्र सरकार उप्र को दे निश्शुल्क : बिजली संकट पर कहा कि यह भाजपा की देन है। वह बिजली महंगी करने वाली है। केंद्र सरकार को चाहिए कि वह उत्तर प्रदेश को निश्शुल्क बिजली दे क्योंकि यहां की जनता ने भी वोट दिया है।

अन्ना मवेशी मुसीबत, बुंदेलखंड में भाजपा का सफाया तय : सपा मुखिया ने कहा कि सरकार ने बुंदेलखंड में करोड़ों रुपये खर्च किए पर अन्ना मवेशी की समस्या खत्म नहीं हो सकी। बुंदेलखंड में भाजपा का सफाया होगा। जनता सरकार से बहुत नाराज है। इस बार सपा 400 सीटें लेकर सत्ता में आएगी।

किसान-नौजवान का करते सम्मान, जारी रहेगी विजय यात्रा: अखिलेश ने कहा कि समाजवादी विजय यात्रा जारी रहेगी। सपा किसानों और नौजवानों का सम्मान करेगी। 

ठोको नीति का परिणाम है अयोध्या की घटना, महंगाई ने ठंडी की उज्ज्वला: अयोध्या में देवी पंडाल में हुए गोलीकांड पर उन्होंने कहा कि प्रदेश में ठोको नीति के कारण अराजक स्थिति है। भाजपा सरकार ने जिस उच्वला योजना का प्रचार सबसे अधिक किया आज वहीं सिलिंडर भरवाने को गरीब परेशान है। महंगाई से जनता बेदम है। 

हमारे काम पर अपना नाम : उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री एक एयरपोर्ट का शुभारंभ करने आ रहे हैं। सपा सरकार ने जो काम कराया, उसे ही नाम बदलकर यह अपना बता देते हैं। वार्ता और कार्यकर्ताओं से मुलाकात के बाद वह लखनऊ रवाना हो गए। 

Edited By: Shaswat Gupta