जेएनएन, बिठूर : बीते एक पखवाड़े से चले आ रहे बिठूर के अखंड शिवधाम आश्रम विवाद में दोनों पक्षों को बिठूर पुलिस के जरिये अपर जिला मजिट्रेट कानपुर नगर की तरफ से नोटिस मिला है। नोटिस में डॉ. रेनू तिवारी और स्वामी ब्रजानन्द अवधूत को सोमवार अपर जिला मजिस्ट्रेट के यहां सुबह 11 बजे अपने अपने साक्ष्यों के साथ उपस्थित होने के लिए कहा गया है। दोनों पक्षों की शिकायत के आधार पर डीएम आलोक तिवारी ने पिछले दिनों डीसीपी पश्चिम संजीव त्यागी और एडीएम सिटी अतुल कुमार के नेतृत्व में संयुक्त जांच समिति बनाई थी। जांच समिति ने दोनों पक्षों को अपने-अपने वकीलों व साक्ष्यों के साथ बुलाया है, ताकि आश्रम स्वामित्व विवाद के पटाक्षेप किया जा सके। डीसीपी ने बताया कि दोनों पक्षों को सुनने के बाद टीम एक बार मौका मुआयना भी करेगी। इसके बाद ही रिपोर्ट डीएम को दी जाएगी। एक पक्ष से डॉ. रेनू तिवारी व दूसरे पक्ष से ब्रजानंद अवधूत और बजरंग दल के जिला संयोजक नरेश तोमर ने पुलिस कमिश्नर को ज्ञापन देकर विवाद निस्तारण की मांग की थी। अतंराष्ट्रीय मानावाधिकार न्याय सुरक्षा परिषद ने साध्वी सतरूपा का समर्थन किया : अखंड शिवधाम अधिपत्य विवाद में अंतराष्ट्रीय मानवाधिकार न्याय सुरक्षा परिषद दिल्ली के राष्ट्रीय अध्यक्ष डीपी सिंह और प्रदेश संगठन मंत्री सत्येंद्र तिवारी ने शपथ पत्र जारी कर साध्वी सतरूपा के पट्टाभिषेक को सही मानकर साध्वी सतरूपा द्वारा आश्रम के संचालन की उचित ठहराया है। दुष्कर्म व पॉक्सो के मुकदमे में भेजा जेल, कानपुर : नौबस्ता के अर्रा बिनगवां निवासी ठेकेदार की 15 वर्षीय बेटी का शव फंदे से लटका मिला था। उनके कानपुर देहात के पैतृक गांव निवासी युवक की फोटो छत से कूदकर भागते हुए सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई थी। पुलिस ने पिता की तहरीर पर आरोपित के खिलाफ दुष्कर्म और पॉक्सो की रिपोर्ट दर्ज कर आरोपित को जेल भेजा है। अर्रा निवासी ठेकेदार की पत्नी नौ वर्षीय बेटे को लेकर चार दिन पहले मायके गई थी। बीते 10 जून को पड़ोसी ने ठेकेदार को फोन करके एक युवक के छत से कूदकर भागने और उनकी बेटी के दरवाजा न खोलने की जानकारी दी थी। कमरे में पंखे के कुंडे और साड़ी के फंदे से बेटी का शव लटक रहा था। नौबस्ता थाना प्रभारी सतीश कुमार सिंह ने बताया कि आरोपित के खिलाफ दुष्कर्म, पॉक्सो और आत्महत्या के लिए प्रेरित करने की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर आरोपित को गिरफ्तार किया है। चार माह पहले ही हटाया जा चुका है कार्यसमिति से आरोपित : कानपुर : किदवई नगर में किशोरी संग दोस्ती करने के बाद नशीली कोल्डड्रिक पिलाकर दुष्कर्म और वीडियो बनाने के मामले में आरोपित फरार चल रहा है। आरोपित भाजयुमो की कार्यसमिति से चार माह पहले हटाया जा चुका है। पुलिस आरोपित के खिलाफ साक्ष्य जुटाने के साथ उसकी तलाश कर रही है।

साकेत नगर निवासी अधिवक्ता ने आरोपित विवेक निगम के खिलाफ बेटी को बहला फुसलाकर दोस्ती करने और नशीली कोल्डड्रिक पिलाकर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था। अधिवक्ता ने किदवई नगर थाने में आरोपित के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। थाना प्रभारी किदवई नगर राजीव सिंह ने बताया कि आरोपित के खिलाफ साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। जल्द आरोपित की गिरफ्तारी की जाएगी। बिकरू कांड की जांच विजिलेंस से कराने की मांग, कानपुर : बिकरू कांड में पुलिस की जांच को लेकर अधिवक्ता सौरभ भदौरिया ने सवाल खड़े किए हैं। शिकायत पर मुख्यमंत्री कार्यालय ने पुलिस आयुक्त से आख्या मांगी है। शिकायती पत्र में सौरभ ने मामले में विजिलेंस जांच कराने की मांग की थी।

मुख्यमंत्री को भेजी गई शिकायत में सौरभ ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने बिकरू में दो जुलाई को हुई घटना में दर्ज मुकदमे में धाराएं हटाई है। जांच सही प्रकार से नहीं की गई। गैंगस्टर जय बाजपेयी और विकास दुबे से संबंध रखने वाले पुलिस कर्मियों पर भी कार्रवाई नहीं हुई। पूर्व के प्रकरण, विकास दुबे और जय बाजपेयी के गिरोह से जुड़े लोगों की विजिलेंस जांच और आर्थिक अनुसंधान शाखा से जांच की जानी चाहिए। मामले में पुलिस आयुक्त से जांच रिपोर्ट मांगी गई है। वहीं सूत्रों के मुताबिक आइबी बिकरू कांड की जांच के लिए सोमवार को कानपुर आने की सूचना है।

Edited By: Jagran