कानपुर, जेएनएन। शहर की इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर की नामी कंपनी रुद्रा रीयल एस्टेट का सर्वर हैक करके हैकरों ने हजारों फाइलें इनक्रिप्ट कर डालीं। घटना का पता लगते ही कंपनी के कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। कंपनी मैनेजर ने कोतवाली थाने में मुकदमा दर्ज कराया तो साइबर सेल जांच में जुट गई है। सर्वर हैक करने वालों ने कंपनी से बिटक्वाइन में रंगदारी की मांग की है।
कंपनी की सभी फाइलें इनक्रिप्टेड
सिविल लाइंस ग्र्रीन पार्क चौराहे के पास स्थित रुद्रा रीयल एस्टेट कंपनी के कर्मचारियों ने शनिवार शाम अपने कंप्यूटर पर जब प्रोजेक्ट्स संबंधित फाइलें सर्च करनी शुरू कीं तो एक भी फाइल नहीं खुली। हर फाइल पर इनक्रिप्टेड का मैसेज आ रहा था। इन फाइलों के नाम और इसमें मौजूद डाटा भी फाइल से इतर फार्मेट में आ रहा था। कर्मचारियों नेअधिकारियों को जानकारी दी तो आइटी टीम ने जांच शुरू की।
बिटक्वाइन में भुगतान पर रिकवर होगा डाटा
कंपनी की मेल आइडी पर साइबर हैकरों का मैसेज आया। इसमें लिखा था, वी हैव टू इन्फॉर्म यू दैट ऑल योर फाइल्स वर इनक्रिप्टेड। एक पेज के इस मैसेज में साइबर ठगों ने लिखा था कि पूरा डाटा तभी रिकवर होगा, जब कंपनी बिटक्वाइन (क्रिप्टोकरेंसी) में भुगतान करेगी। भुगतान होते ही साइबर अपराधी ई-मेल के जरिए ऑटोमैटिक डिक्रिप्शन टूल और यूनिक डिक्रिप्शन की भेजेंगे।
शहर में डाटा हैकिंग का पहला मामला
मैनेजर विश्वजीत कुमार गुप्ता ने कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है। हैकरों ने बिटक्वाइन में रंगदारी मांगी है, लेकिन संख्या नहीं लिखी है। कंपनी की आइटी टीम डाटा रिकवर करने में लगी है। एसपी पूर्वी राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि एक रीयल एस्टेट कंपनी ने डाटा हैक होने की रिपोर्ट लिखाई है। अब तक का यह पहला मामला है। साइबर सेल की मदद से घटना की जांच कराई जा रही है। अभी तक हैकरों ने बिटक्वाइन की संख्या या अपना कोई अकाउंट नंबर लिखकर नहीं भेजा है।
हैकरों ने दीं तीन ईमेल आइडी, डेमो दिखाने का दावा
हैकरों ने मैसेज में अपनी तीन ई-मेल आइडी भी दी हैं। इसमें मैसेज करके रंगदारी देने की सहमति जताने और पांच एमबी की कोई भी तीन छोटी फाइल भेजने के लिए कहा। लिखा कि उन फाइल को वह नि:शुल्क डिक्रिप्ट करके दिखाएंगे। बिटक्वाइन खाते में जमा होने के बाद ही डिक्रिप्शन टूल व की देंगे।
जानिए क्या होता है बिटक्वाइन
यह एक तरह की पहली डिजिटल मुद्रा है, जो किसी भी देश के बैंक में मान्य नहीं है और न ही संचालित होती है। साइबर दुनिया में कंप्यूटर नेटवर्किंग से जुड़े भुगतान के लिए इसे बनाया गया है।

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप