कानपुर, जेएनएन। चुनावी महासमर में सारे दल एक-एक सीट को लेकर बेहद गंभीर हैं। यही वजह है कि चरणवार रणनीति के तहत मतदान से फुर्सत हो चुके लोकसभा क्षेत्र के पदाधिकारियों को लगातार वहां भेजा रहा है, जहां अभी वोटिंग होनी है। कानपुर सीट से चुनाव लडऩे वाले प्रत्याशी भी अब दूसरों को लड़ाने के लिए अन्य लोकसभा क्षेत्रों में जा रहे हैं।

प्रदेश में सात चरणों में लोकसभा चुनाव हो रहे हैं। चार चरण हो चुके हैं और अभी तीन बाकी हैं। इसे देखते हुए पहले ही दलों ने अपनी-अपनी रणनीति बना ली थी। उसी के तहत कानपुर सीट पर मतदान होने के बाद यहां के प्रत्याशी और पदाधिकारियों को अन्य लोकसभा क्षेत्रों की जिम्मेदारी दे दी गई है। भाजपा प्रत्याशी सत्यदेव पचौरी सुल्तानपुर जा रहे हैं। वहां प्रदेश प्रभारी जेपी नड्डा के साथ प्रत्याशी मेनका गांधी की चुनावी बैठकों में भाग लेंगे। कांग्रेस के अकबरपुर प्रत्याशी राजाराम पाल भी पार्टी के स्टार प्रचारक हैं। वह भी चुनाव प्रचार के लिए अन्य क्षेत्रों में जा रहे हैं।

भाजपा एमएलसी डॉ. अरुण पाठक, उत्तर जिलाध्यक्ष सुरेंद्र मैथानी, पूर्व प्रदेश मंत्री सुरेश अवस्थी और भाजयुमो के प्रदेश मंत्री प्रमोद विश्वकर्मा को पार्टी ने संत कबीरनगर में चुनाव प्रचार के लिए भेज दिया है। वहीं, भाजपा के कानपुर-बुंदेलखंड क्षेत्र के मीडिया प्रभारी मोहित पांडेय ने बताया कि क्षेत्र की बांदा-चित्रकूट और फतेहपुर लोकसभा सीट पर अभी मतदान होना है। लिहाजा, क्षेत्रीय पदाधिकारी अब वहां जाकर पार्टी का काम देख रहे हैं। इसके अलावा स्वेच्छा से जिले के पदाधिकारी भी सहयोग के लिए जा रहे हैं। 

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप