कानपुर, जेएनएन। पौधारोपण अभियान केवल प्रदेश सरकार और शासन का कार्यक्रम नहीं है बल्कि इसमें पूरे समाज की भागीदारी अनिवार्य है। सामूहिक जन भागीदारी से अधिक से अधिक पौधों को लगाने के साथ ही उनको पाल पोषकर उत्तर प्रदेश को हरित प्रदेश बनाना है। हरित क्रांति से केवल उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि पूरा देश समृद्ध व खुशहाल होगा। ये बातें महाराजपुर के जाना व सरसौल में पौधारोपण अभियान की शुरुआत करते हुए मुख्य अतिथि अपर प्रमुख सचिव महेश गुप्ता ने कहीं।

प्रदेश सरकार के पौधारोपण अभियान के तहत शुक्रवार को महाराजपुर के जाना गांव में नगर निगम द्वारा एक लाख पौधे लगाए जाने का लक्ष्य रखा गया है। इसकी शुरुआत अपर प्रमुख सचिव महेश कुमार गुप्ता ने नीम, नारियल व जामुन के पौधों को लगाकर की। अपर प्रमुख सचिव ने कहा कि भूगर्भ जलस्तर का दिन प्रतिदिन नीचे जाना भविष्य के लिए बड़ा संकट हो सकता है। जरूरत है हमें जल संरक्षण व वर्षा जल को संचयन के प्रति जागरूक रहने की। इसके लिए सबसे महत्वपूर्ण है कि हम अधिक से अधिक संख्या में पौधे लगाएं। पौधा लगाने के बाद नियमित उनकी देखरेख भी जरूरी है।

जाना गांव के बाद प्रशासनिक अमला सरसौल पहुंचा। सरसौल में पौधारोपण के बाद अपर प्रमुख सचिव कार्यक्रम स्थल पर आए छात्र- छात्राओं से मिले। उन्होंने छात्र-छात्राओं को पर्यावरण के लिए जागरूक किया। जल संसाधन मंत्रालय भारत सरकार की संयुक्त सचिव रूपा दत्ता, कमिश्नर सुभाष चंद्र शर्मा, जिलाधिकारी विजय विश्वास पंत, मुख्य विकास अधिकारी अक्षय त्रिपाठी, महापौर प्रमिला पाण्डेय, एसडीएम नर्वल ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी आदि उपस्थित रहे। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस