जागरण संवाददाता, कानपुर : जाम में फंसकर दो दिन पहले एक वृद्धा की जान चली गई थी, वहीं एसीपी कर्नलगंज त्रिपुरारी पांडेय की तत्परता से एक हृदय रोगी की जान बच गई। हार्ट अटैक के बाद कार में मरीज लेकर जा रहा परिवार उस वक्त मुश्किल में फंस गया, जब बीच वीआइपी रोड पर कार खराब हो गई। बीस सड़क कार खराब होने से जाम लग गया। इसी दौरान उधर से गुजर रहे एसीपी कर्नलगंज ने जाम देखकर कार रोकी तो मामला संज्ञान में आया। उन्होंने आनन फानन अपनी कार से मरीज को अस्पताल भिजवाया। मरीज को कार्डियोलॉजी में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है।

जाजमऊ निवासी एसए श्याम को गुरुवार की दोपहर अचानक हार्ट अटैक पड़ा। स्वजन उन्हें कार में डालकर अस्पताल की ओर भागे। अभी कार परमट तिराहे पर पहुंची थी कि गाड़ी खराब हो गई। बीच सड़क कार रुकने की वजह से पीछे लंबा जाम लग गया। मरीज को पहले तुलसी हास्पिटल ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने जवाब दे दिया। बाद में उन्हें सीओ की कार से कार्डियोलॉजी ले जाया गया।

................

- अस्पताल रोड, कचहरी रोड और डाकघर रोड से अतिक्रमण हटाने की तैयारी

- रूट डायवर्जन के ट्रायल में सामने आई दिक्कतों को देखते हुए कवायद शुरू

आज नहीं लागू होगा स्थायी डायवर्जन, पहले दूर होंगी बाधाएं

जागरण संवाददाता, कानपुर : रूट डायवर्जन के साढ़े तीन घंटे के ट्रायल में ट्रैफिक पुलिस के अधिकारियों को वैकल्पिक मार्गों से यातायात संचालन में तमाम दिक्कतें नजर आई हैं। इसलिए शुक्रवार से दो साल के लिए लागू होने वाला डायवर्जन अभी टाल दिया गया है। पहले रास्तों से अतिक्रमण व अवैध पार्किंग पूरी तरह से हटवाई जाएगी। ई-रिक्शा और बसों को किसी और रूट से गुजारने पर भी मंथन हो रहा है। वैकल्पिक मार्गों पर आ रही दिक्कतों को दूर करने के लिए मेट्रो अधिकारियों व अधीनस्थों के साथ डीसीपी ट्रैफिक ने शुक्रवार को बैठक भी बुलाई है।

डायवर्जन के ट्रायल में जो समस्याएं दिखीं, उसमें बड़ा चौराहे के चारों ओर ई रिक्शा चालकों की अराजकता दिखी। कोतवाली चौराहे का बेहद संकरा होने के कारण बसों के मुड़ने में परेशानी नजर आई। अस्पताल रोड, कचहरी रोड पर वाहन सड़क पर खड़े दिखे। एडीसीपी ट्रैफिक निखिल पाठक ने बताया कि अस्पताल रोड पर खड़े वाहनों को क्रिस्टल पार्किंग पहुंचाया जाएगा। न मानने वालों का चालान होगा। वीआइपी रोड व कचहरी रोड पर दबाव पड़ेगा। इसलिए यहां भी सड़क से पार्किंग व अतिक्रमण को हटवाया जाएगा। ये वाहन ग्रीनपार्क में एक खाली स्थान पर खड़े कराने पर विचार किया जा रहा है। वीआइपी रोड पर शुक्रवार से अस्थायी डिवाइडर बनवाया जाएगा और इसके बाद स्थायी बनाने पर भी विचार होगा। बसों का रूट परिवर्तित किया जा सकता है। ई रिक्शा निर्धारित रूट पर ही चलने की अनुमति रहेगी।