कानपुर, जागरण संवाददाता। मसाला कारोबारी सूर्यांश खरबंदा की पत्नी आंचल की मौत के मामले में पुलिस ने जांच तेज कर दी है। दहेज हत्या के इस प्रकरण में एसीपी नजीराबाद ने आंचल के माता, पिता, भाई, मामा और मौसा से पूछताछ कर उनके बयान दर्ज किए। सभी ने आंचल के ससुरालियों पर दहेज हत्या का आरोप लगाया है।

सूर्यांश की पत्नी आंचल का शव पिछले दिनों अपने कमरे से अटैच बाथरूम में लगे पंखे के कुंडे पर लटका मिला था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट और ससुरालियों की मानें तो आंचल ने आत्महत्या की, जबकि मायके वाले दहेज के लिए हत्या करने का आरोप लगा रहे हैं। पति सूर्यांश और सास निशा खरबंदा के अलावा छह अन्य को आरोपित बनाया गया है। इस मामले में गुरुवार को आंचल के पिता पवन ग्रोवर, भाई अक्षय ग्रोवर, मां रीना ग्रोवर, गुमटी निवासी मामा जितेंद्र भल्ला व गोविंदनगर निवासी मौसा राजीव ने विवेचक एसीपी नजीराबाद संतोष सिंह को अपने बयान दर्ज कराए। सभी ने कहा कि ससुराल वाले आंचल को दहेज के लिए प्रताड़ित करते थे। पिता पवन ग्रोवर ने बताया कि उन्होंने पुलिस से इंसाफ की मांग की है।

यह सौंपे हैं साक्ष्य: आंचल के स्वजन ने इस प्रकरण से जुड़े तमाम साक्ष्य पुलिस को मुहैया कराए हैं। पैन ड्राइव में दो आडियो, नौ फाइलों में वाट्सएप चैटिंग और जो गालीगलौज वाला जो वीडियो वायरल हुआ था, उससे पहले मारपीट की फोटो पुलिस को दी है, जिसमें आंचल को चोटें लगी हैं। इसके अलावा नौकरानी व घटनास्थल का वीडियो भी साक्ष्य के तौर पर दिया गया है।

Edited By: Abhishek Agnihotri