जागरण संवाददाता, कानपुर : हरकोर्ट बटलर प्राविधिक विश्वविद्यालय (एचबीटीयू) में नए सत्र से बीटेक की 92 सीटें बढ़ जाएंगी। अभी 478 सीटें है, जिन्हें बढ़ाकर 570 किया जाएगा। बढ़ने वाली सीटों में 30 सिविल इंजीनिय¨रग, 27 इलेक्ट्रिकल इंजीनिय¨रग, इलेक्ट्रानिक्स में 15 व केमिकल और लेदर में 10-10 सीटें हैं। वहीं पहली बार विवि में एआइसीटीई व यूजीसी के मानकों के मुताबिक च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम लागू होगा। इस तरह के कई अहम फैसले बुधवार को विवि में एकेडमिक काउंसिल की बैठक में कुलपति ने विभागाध्यक्षों व डीन की मौजूदगी में लिये। कुलपति प्रो. नरेंद्र बहादुर सिंह ने कहा, सभी छात्र छात्राओं के लिए 75 फीसद उपस्थिति जरूरी होगी। ऐसा न होने पर वे सेमेस्टर परीक्षा में शामिल नहीं हो सकेंगे। बैठक में कुलसचिव प्रो. करुणाकर सिंह, एचबीटीयू के मीडिया प्रभारी व स्टेप एचबीटीआइ के कोआर्डिनेटर प्रो. मनोज शुक्ला मौजूद रहे।

स्टूडेंट स्टार्टअप सेल गठित

कुलपति प्रो. एनबी सिंह ने कहा कि विश्वविद्यालय में इंक्यूबेशन हब द्वारा पहली बार स्टूडेंट स्टार्टअप सेल गठित हुई। इसमें छात्र-छात्राएं स्टार्टअप पर फोकस करेंगे।

बीटेक अंतिम वर्ष में अब 6 माह की ट्रेनिंग: बीटेक अंतिम वर्ष के छात्रों को अभी तक एक माह की ट्रेनिंग दी जाती थी पर अब छह माह की ट्रेनिंग दी जाएगी। वहीं पहले वर्ष के छात्र-छात्राओं को इनहाउस प्रशिक्षण दिया जाएगा।

--------------------------

ये फैसले भी हुए:

-प्लास्टिक टेक्नोलॉजी व पेंट टेक्नोलॉजी में एमटेक शुरू होने का प्रस्ताव तैयार

-एमबीए प्रोग्राम विद स्पेशलाइजेशन इन इंटर्नशिप शुरू करने का प्रस्ताव तैयार

-शोध पर जोर देने के लिए कवायद शुरू, डिजाइन इनोवेशन सेंटर में छह शोध कार्य संचालित

-अब तक 48 कंपनियां कैंपस प्लेसमेंट के लिए आई, 396 छात्र-छात्राओं में 182 को मिली नौकरी

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस