जागरण संवाददाता, कानपुर : गर्मी में जलसंकट से निपटने के लिए जलकल ने नगर निगम से 648 लाख रुपये मांगे हैं, ताकि अभी से खराब हैंडपंपों को ठीक कराया जा सके। इसके साथ ही लीकेज के चलते रोज बर्बाद होने वाला लाखों लीटर पीने का पानी बच सके।

दैनिक जागरण ने पेयजल संकट का मामला उठाया था कि गर्मी से पहले जल संकट से नहीं निपटा गया तो लोगों को पीने के पानी के लिए जूझना पड़ेगा। वर्तमान में पांच हजार हैंडपंप खराब पड़े हुए है। साथ ही कई जगह लीकेज के चलते पीने का पानी सड़क पर बह जाता है। इस मामले में जलकल महाप्रबंधक ने नगर आयुक्त को पत्र लिखकर पेयजल संरक्षण के लिए 648 लाख रुपये मांगे हैं।

सीवर लाइन ठीक करने को 330 लाख

बरसात से पहले सीवर लाइन ठीक कराने के लिए 330 लाख रुपये मांगे हैं ताकि अभी से चोक व जर्जर सीवर लाइन को ठीक कराया जा सके। साथ ही पानी को ट्रीट करने के लिए क्लोरीनेशन व इलेक्ट्रानिक डोजर के लिए 20 लाख रुपये मांगे हैं।

क्या कहते हैं जिम्मेदार

पेयजल, सीवर और ट्रीटमेंट के लिए नगर निगम से 998 लाख रुपये मांगे हैं ताकि गर्मी से पहले समस्या का निस्तारण कराया जा सके।

आरपी सिंह सलूजा, महाप्रबंधक जलकल

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप