कानपुर, जेएनएन। जेईई एडवांस्ड के नतीजे शुक्रवार को घोषित होते ही सफल अभ्यर्थियों के लिए संस्थान और ब्रांच चयन की मशक्कत शुरू हो गई है। कानपुर से बीस हजार अभ्यर्थी शामिल हुए थे और शनिवार से संस्थान चयन के लिए अपनी पसंद भरेंगे। इस बार खास बात यह है कि आइआइटी कानपुर ने पहली बार ओपन हाउस की व्यवस्था की है, जिसमें छात्र-छात्राएं अपने अभिभावकों संग आन लाइन होंगे। इसमें सेकेंड और थर्ड ईयर के छात्र-छात्राएं अपने अनुभवरों से रू-ब-रू कराएंगे ताकि छात्रों का माहौल को लेकर भय और अभिभावकों को चिंता दूर हो सके।

छह चरणों में होगी काउंसिलिंग

इस बार आइआइटी खड़गपुर की ओर से जेईई एडवांस्ड का आयोजन कराया गया, जिसमें कानपुर जोन में बीस हजार छात्र शामिल हुए थे। आइआइटी कानपुर में यूपी और मध्य प्रदेश के 14 शहरों के छात्रों के लिए परीक्षा कराई गई थी। शुक्रवार को परिणाम जारी होने के बाद सफल छात्र-छात्राओं में पसंदीदा संस्थान और ब्रांच चयन की कवायद शुरू हो गई है। जेईई एडवांस्ड परिणाम आने के बाद ज्वाइंट सीट एलोकेशन अथारिटी (जोसा) ने छह चरणों में काउंसिलिंग का शेड्यूल जारी किया है, जो 16 से 25 अक्टूबर तक चलेगा। इसके बाद 27 अक्टूबर को सीट आवंटन की सूची जारी होगी, जबकि छठवां और अंतिम राउंड 18 नवंबर को तय है।

आइआइटी कानपुर में ओपन हाउस की तैयारी

आइआइटी कानपुर में भी एडमिशन को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं और पहली बार नव प्रवेशितों के लिए ओपन हाउस रखा है। इसमें छात्रों और उनके अभिभावकों से आनलाइन संवाद किया जाएगा। छात्र-छात्राएं अपने माता पिता के साथ आनलाइन होंगे, जिसमें संस्थान के सेकेंड या थर्ड ईयर के छात्र संस्थान की जानकारी देंगे। यहां के माहौल से परिचित कराएंगे। छात्र और उनके अभिभावक प्रश्न कर सकते हैं। शिक्षा, शोध और प्लेसमेंट , अन्य क्रियाक्लापों के बारे में बताया जाएगा।

जेईई एडवांस्ड के चेयरमैन प्रो. धीरेंद्र एक कट्टी के मुताबिक शाम चार बजे ओपन सेशन रखा गया है। पिछले वर्ष छात्राओं के लिए सत्र आयोजित हुआ था। इस बार सभी छात्रों के लिए सेशन आयोजित किया जा रहा है। संस्थान का पूरा प्रेजेंटेशन होगा। खेलकूद, योग, लेबोरेट्री, क्लबों की जानकारी दी जाएगी। इसका मकसद छात्रों में डर की भावना को निकालकर आपस में सामंजस्य स्थापित करना है।

Edited By: Abhishek Agnihotri