हमीरपुर, जेएनएन। Blind Faith in UP देश के अलग-अलग हिस्सों से प्राय: ही अंधविश्वास के नायाब किस्से सामने आया करते हैं। इसी वर्ष कानपुर देहात से एेसी ही एक खबर सामने आई थी जिसमें महिला को भगवान से मिलाने की बात कहकर उसे भू समाधि दिला दी गई थी। इस तरह के अंधविश्वास से परिपूर्ण किस्से कई बार समाज में नकारात्मकता और भ्रम पैदा करने का काम करते हैं। ऐसा ही एक ताजा किस्सा सामने आया है यूपी के हमीरपुर जिले से जहां जमीन में दबे खजाना खोदने के लिए किशोरी का साज श्रृंगार किया गया। जब किशोरी काे पता चला कि लोग उसे बलि चढ़ाने के लिए ले जा रहे हैं तो मौका पाकर वो वहां से भाग निकली। इन्हीं आरोपों के साथ पिता ने सात लोगों के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी है। वहीं हमीरपुर पुलिस ने मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

दरअसल, क्षेत्र में दफीनाबाजों का गैंग सक्रिय है। बता दें कि दफीनाबाज उन लोगों की जमात होती है जो लगातार जमीन पर गड़े हुए धन को निकालने के लिए तंत्र-मंत्र का सहारा लेते हैं। जिले के थानाक्षेत्र के एक गांव निवासी व्यक्ति ने पुलिस को तहरीर देते हुए बताया कि उसकी पुत्री अपनी नानी के पास गई हुई थी। आरोप लगाया कि नानी के गांव में एक रात उसकी पुत्री को तीन अज्ञात लोग रात को 12 बजे बहला-फुसलाकर अपने साथ ले गए। इसके बाद धन खोदने के लिए उसकी पुत्री को निर्वस्त्र कर श्रृंगार कर पूजा-पाठ शुरू कर दिया। बताया कि इसी बीच उसकी पुत्री की बलि देने के बात करने लगे तो वह भयभीत होकर वह मौके से भाग निकली। पीड़ित पिता ने बताया कि उस रात के तंत्र मंत्र के बाद उसकी पुत्री की हालत अभी भी खराब है। उधर इस मामले की जांच कर रहे दरोगा रोशनलाल सरोज ने बताया कि मामला करीब 15 दिन पूर्व का है। तहरीर मंगलवार को मिली है। मामले की जांच की जा रही है। बताया कि किशोरी की हालत ठीक नहीं हैं। मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Shaswat Gupta