कानपुर, जेएनएन। Red Alert in UP लगातार बारिश के चलते जर्जर व पुराने मकानों में रहने वालों की जान सांसत में है। पिछले दिनों बेकनगंज में पुराने मकान के धराशाई होने से मां व दो बच्चों की मौत की घटना से सबक लेते हुए गुरुवार को पुलिस ने खुद सभी इलाकों में घूमकर व लाउडस्पीकर से एनाउंसमेंट कराया। इसके साथ ही उन्होंने लोगों को अलर्ट करते सुरक्षित स्थान पर या किसी रिश्तेदार के यहां जाने की अपील की।

इस हादसे हैं उदाहरण: नगर निगम की सूची के मुताबिक शहर में जर्जर मकानों की संख्या 429 है। ये मकान मूलगंज, कर्नलगंज, कलक्टरगंज, हरबंशमोहाल, बादशाहीनाका, अनवरगंज, नवाबगंज, कोतवाली और बेकनगंज आदि क्षेत्रों में हैं। हर साल बारिश के दौरान जर्जर मकानों के गिरने का सिलसिला शुरू हो जाता है। पिछले वर्ष हटिया स्थित बक्सा बाजार में तीन मंजिला भवन भरभराकर ढह गया था। इसमें मां-बेटी की मलबे में दबकर दर्दनाक मौत हो गई थी। यही नहीं, उसी दौरान कुलीबाजार में भी खोदाई के चलते जैन बिल्डिंग का एक हिस्सा गिर गया था और मलबे में दबने से एक किरायेदार की मौत हो गई थी। पिछले दिनों बेकनगंज के हीरामन का पुरवा के पास मकान के अगले हिस्से की छत गिर जाने से एक महिला व दो बच्चों की मौत हो गई थी। हर वर्ष हादसों को देखते हुए पुलिस व नगर निगम के अधिकारी काफी चिंतित हैं। 

यह भी पढ़ें : कानपुर में हुई 80 मिमी बारिश से बिगड़े हालात, दो दिन के लिए स्कूल-कालेज बंद

पुलिस ने कही यह बात: लगातार हो रही बारिश को देखते हुए पुलिस आयुक्त असीम अरुण के निर्देश पर एसीपी कर्नलगंज त्रिपुरारी पांडेय, एसीपी अनवरगंज मो. अकमल खान ने खुद गलियों में गश्त करके लोगों को सचेत किया। उन्होंने लाउडस्पीकर से उन सभी इलाकों में लोगों को सचेत किया, जो जर्जर या पुराने भवनों में रह रहे हैं। उन्होंने कहा कि लोग ऐसे भवनों में न रहें और सुरक्षा की दृष्टि से अपने रिश्तेदारों के घर चले जाएं। यही नहीं, बारिश के दौरान बिजली के खंभों, तारों और पुराने पेड़ों से भी दूर रहें। 

Edited By: Shaswat Gupta