कानपुर, जेएनएन। 18 मौतों के बाद भी बस में क्षमता से अधिक सवारियां भरने के मामले में पुलिस ने सख्त कार्रवाई की है। पुलिस ने नौबस्ता चौराहे पर पकड़ी गई ओवरलोड बस के मामले में बस के चालक परिचालक समेत नौ ट्रेवल एजेंसियों के खिलाफ धोखाधड़ी और महामारी एक्ट की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है।

नौबस्ता पुलिस ने गुरुवार को शक्ति टूर एंड ट्रेवल्स, हिम्मतनगर, अहमदाबाद की एक बस जीजे एयू 6599 को नौबस्ता चौराहे पर पकड़ा था।

40 सवारियों के स्थान पर बस में 132 सवारियां मिली थीं। जांच में सवारियों के पास से विभिन्न टूर एंड ट्रैवल एजेंसियों की टिकटें मिली थीं। उप निरीक्षक हिमांशु सिंह की ओर से दर्ज कराए गए मुकदमे में बस चालक व परिचालक राजेंद्र ननोमा, बाबूलाल और भीखालाला के अलावा राजधानी टूर एंड ट्रैवल्स, शुभ दुर्गा बस सॢवस के गंगा चौरसिया व रेंद्र प्रताप सिंह, राज लक्ष्मी ट्रेवल्स के संतोष सिंह, अनमोल ट्रेवल्स के भूपेंद्र सिह भदौरिया, शिव सिंह भदौरिया हिमांश सिंह भदौरिया, श्रीबाला जी ट्रेवल्स के आशू बाजपेयी और सहारा बस सॢवस न्यू शताब्दी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। आरोप है कि इन एजेंसियों ने सवारियों के साथ धोखाधड़ी की और उनसे रुपये ऐंठे। गौरतलब है कि सवारियों से अहमदाबाद तक के लिए दो हजार रुपये तक वसूले गए थे।

अगर पहले होती सख्ती तो बच जाती जान : बस हादसे में 18 लोगों के मरने के बाद जिस तरह से पुलिस औ प्रशास सक्रियता दिखा रहा है। अगर इसी तरह से पहले वो अलर्ट रहता था, तो इस हादसे में शायद इतने लोगों की जान जाने से बच जाती।  

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप