फर्रुखाबाद, जेएनएन। कोरोना टीकाकरण बूथ का निरीक्षण करने पहुंचे एसडीएम को वैक्सीन लगवाने वालों की संख्या कम मिली तो आशा बहू तथा अन्य कर्मचारियों से नाराजगी व्यक्त की। इसके बाद एसडीएम खुद कर्मचारियों के साथ जब गांव पहुंचे तो असल वजह ग्रामीणों के असहयोग के रूप में सामने दिखी। एसडीएम को देख ग्रामीण खेतों की तरफ चले गए।

ग्राम पंचायत गदनपुर चैन के प्राथमिक विद्यालय में 45 वर्ष से ऊपर उम्र वालों को वैक्सीन लगाने के लिए कैंप लगाया गया। दो बजे तक मात्र 30 लोग ही वैक्सीन लगवाने पहुंचे। एसडीएम सुनील कुमार ने आशा बहू व ग्राम प्रधान के पति सतीश चंद से लोगों के न आने का कारण पूछा। आशा बहुओं ने बताया कि ग्रामीण लड़ने-झगड़ने पर उतारू हैं, वैक्सीन लगवाने से साफ मना कर रहे हैं। एसडीएम, आशा बहू व राजस्व कर्मचारियों के साथ गांव गदनपुर चैन के मजरा गदनपुर वक्त पहुंचे। उन्हें देखकर ग्रामीण घरों से खेतों की ओर निकल गए। लेखपाल, कानूनगो व कोटेदार ने उन्हें रोकने का प्रयास भी किया, लेकिन उन्होंने कहा कि वे वैक्सीन नहीं लगवाएंगे, चाहे कुछ हो जाए। एसडीएम ने घरों पर पहुंचकर महिलाओं को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे भी वैक्सीन लगवाने विद्यालय नहीं पहुंची। कानूनगो मान सिंह ने बताया कर्मचारी गांव में गए थे, लेकिन ग्रामीण खेतों व बागों में भाग गए, कोई नहीं मिला। ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया जा रहा है। 100 वैक्सीन लगने के लिए भेजी गई थी। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप